>

नई दिल्ली,  कोरोना इलाज में होने वाले खर्च की वजह से वित्तीय दबाव झेल रहे अपने ग्राहकों को एसबीआइ  काफी कम ब्याज दर पर पर्सनल लोन देगा। देश के सबसे बड़े कर्जदाता भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआइ) ने शुक्रवार को अपने ग्राहकों के लिए इस प्रकार की सुविधा शुरू की। इस योजना का नाम कवच पर्सनल लोन है, जिसके तहत ग्राहक पांच लाख तक रुपये का कर्ज ले सकेंगे ; यह लोन उन्हें पांच वर्षों के लिए दिया जाएगा और इस लोन की ब्याज दर मात्र 8.5 फीसद होगी। इस योजना में तीन महीने का मोरेटोरियम भी शामिल है। इस योजना के तहत ग्राहक कोरोना इलाज के बकाये का भी भुगतान कर सकते हैं। ग्राहक स्वयं के साथ परिवार के सदस्यों के कोरोना उपचार के खर्च को कवर करने के लिए भी यह लोन ले सकते है। इस योजना को लांच करने के दौरान एसबीआइ के चेयरमैन दिनेश खारा ने कहा कि यह अनूठा प्रोडक्ट को-लेटरल फ्री पर्सनल लोन की कैटेगरी के तहत पेश किया जा रहा है, यानी ग्राहकों को इसके एवज में बैंक के पास कुछ भी गिरवी नहीं रखनी पड़ेगी। बैंक इस श्रेणी में सबसे कम ब्याज दर पर लोन दे रहा है। खारा ने कहा इस रणनीतिक लोन योजना के साथ हमारा उद्देश्य कोरोना से प्रभावित लोगों को इस कठिन परिस्थिति में मौद्रिक सहायता तक पहुंच प्रदान करना है।