बीकानेर में आखिर कैसे रूकेगा संक्रमण,यह विडियो देख आप हो जाएंगे दंग - Khulasa Online

बीकानेर में आखिर कैसे रूकेगा संक्रमण,यह विडियो देख आप हो जाएंगे दंग

जयनारायण बिस्सा बीकानेर। शहर में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बाद भी शहरवासी इसको अभी भी गंभीर नहीं हो रहे है। जिसका जीता जागता उदाहरण रात 9 बजे के बाद भी मुख्य बाजारों में लोगों की रेलमपेल है। पिछले चार पांच दिनों से लगातार आ रहे पॉजिटिव के नये केस को देखकर स्पष्ट है कि शहर के साथ साथ ग्रामीण इलाकों में भी संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है। हालाकि सरकार ने इसके लिये एडवाजरी जारी भी कर रखी है। किन्तु इसकी अनुपालना कठोरता से नहीं होने कफ्र्यू समय घोषित होने के बाद भी लोगों की चहल कदमी सड़कों पर देखी जा सकती है। यही हालात मोहल्लों व चौकों में भी है। जहां देर रात तक क्षेत्र के लोग गप्पे हांकते नजर आते है। खुलासा की टीम ने जब अनेक क्षेत्रों में जायजा लिया तो सामने आया कि मुख्य बाजारों में दुकानें बंद होने के आदेशों के बाद भी बड़े बड़े प्रतिष्ठान खुले देखे जा सकते है। इतना ही नहीं न तो दुकानों पर और न ही सरकारी व गैर सरकारी कार्यालयों में सैनेटराइज करने की व्यवस्था की जा रही है। यहीं हालात संभाग के सबसे बड़े अस्पताल का भी है। जहां से पिछले पांच दिनों से कोई न कोई संक्रमित कड़ी का हिस्सा बन रहा है। इसको लेकर न तो राज्य सरकार और न ही प्रशासन गंभीरता दिखा रहा है।

https://youtu.be/_s8FYtTWkmA

लॉक डाउन में आएं इतने केस,अनलॉक में बढ़े लॉकडाउन और अनलॉकडाउन के दौरान पॉजिटिव आंकड़ों पर नजर डाले तो चौकानें वाले तथ्य सामने आएंगे। जिसके तहत अनलॉक डाउन में आंकड़े ज्यादा बढ़े है। मतलब यह कि 78 दिन में 52 यानी प्रतिदिन औसतन दो रोगी सामने आ चुके हैं। इनमें से 50 रोगी रिपोर्ट होने की समयावधि देखें तो पहले 50 रोगी 44 दिन में रिपोर्ट हुए जबकि 51 से 100 वें रोगी तक 10 दिन में ही पहुंच गए। अब 101 से 178 वें रोगी तक 23 वें दिन ही हैं। महज सात दिनों में 61 नए पॉजिटिव को गंभीर मानते हुए भी यह देखना होगा कि मरीजों की रफ्तार प्रदेश, देश के बाकी हिस्सों से अब भी बीकानेर में कम है। मसलन, 23200 से ज्यादा सैंपल बीकानेर में लिए जा चुके हैं जिनमें से 178 रोगी रिपोर्ट हुए है। अब हो सख्ताई तो रूके संक्रमण,नये क्षेत्र भी खुले गौरतलब रहे कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते खुलासा ने फेसबुक पेज के माध्यम से रायशुमारी मांगी तो सामने आया कि अनलॉकडाउन की पालना भी में प्रशासन व पुलिस की ओर से ढिलाई बरती जा रही है। जिसके कारण शहर में देर रात तक लोगों का मोहल्लों व चौकों में जमावड़ा रहता है। अगर अभी भी प्रशासन नहीं संभला तो हालात विकट हो जाएंगे। ये आएं सुझाव आमजन की रायशुमारी में लोगों ने अनेक सुझाव दिए है। जिसमें दुकानों का समय निर्धारण करने के साथ साथ रात को क फ्र्यू की पालना भी सख्ताई से की जानी चाहिए। इतना ही नहीं पीबीएम अस्पताल से संक्रमण की बढ़ती कड़ी को देखते हुए प्रशासन को इस ओर भी ध्यान देना चाहिए। जिसके कारण संक्रमण पर प्रभावी काबू पाया जा सके।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp