>



उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में थाईलैंड से कॉल गर्ल बुलाने के मामले में कई नेता और बड़े कारोबारी पुलिस की रडार पर हैं। BJP के राज्यसभा सांसद और लखनऊ के सबसे बड़े बिल्डर संजय सेठ और समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता आईपी सिंह के बीच बयानबाजी के बाद एक्टिव हुई पुलिस अब तक 50 से ज्यादा मोबाइल नंबरों की पहचान कर चुकी है। आईपी सिंह ने आरोप लगाया है कि कॉल गर्ल को संजय सेठ के बेटे ने बुलाया था।

पुलिस की जांच में यह भी पता चला है कि कॉल गर्ल तीन साल से लखनऊ आ रही थी। 3 मई को तबियत बिगड़ने से उसकी मौत हो गई। यह महिला शहर के एक बड़े स्पा सेंटर में काम करती थी। सूत्रों का दावा है कि लॉकडाउन में भी राजधानी के कई बड़े नेता और कारोबारी मसाज कराते थे। हाईप्रोफाइल लोगों के जुड़े होने की वजह से पुलिस बहुत सावधानी से जांच आगे बढ़ा रही है।

एजेंट के जरिए महिला लखनऊ आई थी
जांच टीम को लीड कर रहे DCP पूर्वी संजीव सुमन के मुताबिक, थाईलैंड से 40 साल की महिला काम की तलाश में 2019 में एजेंट के जरिए लखनऊ आई थी। कुछ महीने इधर-उधर काम करने के बाद वह सलमान नाम के शख्स के संपर्क में आई। सलमान छत्तीसगढ़ के रायपुर में रहने वाले राकेश शर्मा के स्पा सेंटर में मैनेजर है। शहर के बड़े स्पा सेंटरों में शुमार यह स्पा सेंटर गोमतीनगर में सिनेपोलिस मॉल के बगल में है। महिला हुसैनगंज में होटल गोल्डन ट्यूलिप के पास किराए पर कमरा लेकर रहती थी।

DCP ने बताया कि वह राकेश के Thai O2 स्पा में काम करती थी। यह स्पा 8 अप्रैल से बंद चल रहा है। लड़की की तबियत 23 अप्रैल को बिगड़नी शुरू हुई और 28 तारीख को उसे लोहिया अस्पताल में भर्ती करवाया गया। यहां 3 मई को उसकी मौत हो गयी। मामले की तह तक जाने के लिए पड़ताल चल रही है।

31 मार्च को थाईलैंड से लौटी थी
थाईलैंड की यह महिला 31 मार्च को अपने देश से लौटी थी। कुछ दिन पहले तबियत खराब होने पर सलमान ने उसे लोहिया अस्पताल में भर्ती करवाया। DCP ने बताया कि सांसद संजय सेठ के बेटे या किसी रिश्तेदार से अब तक उसका कोई कनेक्शन सामने नही आया है। 50 से ज्यादा नम्बरों की कॉल डिटेल मंगवाई गई है। इतने ही सोशल मीडिया अकाउंट भी चेक किए जा रहे हैं।