नॉन परफॉर्मर : गुड फेथ लिस्ट में शामिल गोविंद मेघवाल नहीं बन पाएंगे मंत्री!, जानिए पूरा समीकरण

खुलासा न्यूज, बीकानेर। कांग्रेस हाईकमान ने गहलोत कैबिनेट के सभी मंत्रियों के इस्तीफे ले लिए हैं। अब रविवार को नए सिरे से मंत्री बनाए जाएंगे। शाम 4 बजे शपथ ग्रहण समारोह होगा। इससे पहले दोपहर 2 बजे पीसीसी कार्यालय में सभी विधायकों को बुलाया गया है। मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर कवायदों का दौर शुरू हो गया है। बीकानेर की बात की जाए तो खाजूवाला के विधायक गोविन्द राम मेघवल मंत्री पद के दावेदार माने जा रहे है। लेकिन स्थितियां गोविन्दराम के पक्ष में नजर नहीं आ रही है। उनके सामने कई बड़ी बाधाएं है। सबसे बड़ी बाधा कद्दावर नेता रामेश्वर डूडी है, जो इनके पुराने राजनीतिक शत्रु है। कांग्रेस के दिग्गज नेता डूडी और खाजूवाला विधायक गोविंद मेघवाल के बीच अनबन काफी समय से चल रही है। ये अनबन जिला प्रमुख चुनाव में भी देखने को मिली थी। इसके अलावा उनके बड़ बोलेपन और अखड़ स्वभाव, ऑडियो वीडियो वायरल । अक्सर विवादों में रहने वाले मेघवाल का मंत्री बनना संभव प्रतीत नहीं हो रहा है। यहीं नहीं एक पद एक व्यक्ति का सिद्वान्त भी उनके मंत्री बनने में आड़े आ रहा है। बता दें कि गोविंद मेघवाल वसुंधरा राजे के पहले कार्यकाल में संसदीय सचिव रह चुके हैं, बाद में वे बीजेपी छोड़ कांग्रेस में आए थे।

मास्टर भंवरलाल की जगह दलित वर्ग से मंजू मेघवाल, गोविंद, खिलाड़ी, अशोक बैरवा दावेदार मास्टर भंवरलाल मेघवाल के निधन के बाद गहलोत सरकार में कोई दलित कैबिनेट मंत्री नहीं है। मास्टर भंवरलाल मेघवाल की जगह मंजू मेघवाल को मंत्री बनाया जा सकता है। दलित वर्ग से खिलाड़ी लाल बैरवा, परसराम मोरदिया, अशोक बैरवा, गोविंद मेघवाल भी दावेदार हैं। अशोक बैरवा गहलोत के पिछले कार्यकाल में मंत्री रह चुके हैं।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp