उदयपुर-अहमदाबाद ट्रैक होगा इलेक्ट्रिक, 120 किमी की स्पीड से दौड़ेंगी ट्रेनें

 

जयपुर। राजस्थान में ट्रेनों के विस्तार का काम तेजी से किया जा रहा है. उदयपुर-फुलेरा-जयपुर, उदयपुर-सराय रोहिल्ला-दिल्ली के बीच रेलवे ट्रैक के इलेक्ट्रिफिकेशन का काम पूरा हो चुका है. इसके बाद अब उदयपुर-अहमदाबाद के बीच जल्द इलेक्ट्रिक ट्रेन चलेगी। इस प्रोजेक्ट के पूरा होने के बाद राजस्थान और गुजरात से सुपर कनेक्टिविटी बढ़ सकती है. साल 2023 तक इस रूट को इलेक्ट्रीफाइड करने का काम पूरा किया जा सकता है. जानकारी के मुताबिक, उदयपुर से जयपुर और अहमदाबाद से महाराष्ट्र के बीच रूट इलेक्ट्रीफाइड हो चुके हैं। अभी उदयपुर से अहमदाबाद 299 किमी की रेल लाइन ही इलेक्ट्रिफिकेशन में परिवर्तित होना बाकी है. इलेक्ट्रीफाइड ट्रैक पर ट्रेन 120 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से दौड़ सकेंगी. इस प्रोजेक्ट के पूरा होने के बाद अब उदयपुर से अहमदाबाद के सफर में दो घंटे तक का समय बचेगा। 2022 तक पूरा हो सकता है प्रोजेक्ट रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक, पहले प्रोजेक्ट दिसंबर 2019 में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया था. फिर रेलवे ने इसे बढ़ाकर दिसंबर 2020 में पूरा करना तय किया गया था. इसके बाद कोरोना के चलते इस प्रोजेक्ट का काम रुक गया. अब 2021 में भी इस प्रोजेक्ट का काम बाकि है. अब रेलवे 2022 तक इस प्रोजेक्ट को पूरा करना का लक्ष्य रखा है। उदयपुर-अहमदाबाद के बीच चलेगी इलेक्ट्रिक ट्रेन उदयपुर-अहमदाबाद रुट पर जल्द इलेक्ट्रिक ट्रेन की सौगात मिल सकती है. हिम्मतनगर खण्ड में इस पर काम भी शुरु हो चुका है. रेलवे का कहना है कि दिसंबर 2022 तक पूरा ट्रैक को इलेक्ट्रिफाइड किया जा सकता है. रेलवे ने लक्ष्य निर्धारित किया है कि दिसंबर 2023 तक पूरे जोन को इलेक्ट्रिफाइड किया जा सकता है. हिम्मतनगर से उदयपुर ट्रैक दिसंबर 2022 तक इलेक्ट्रिफाइड कर दिया जाएगा. रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक. हिम्मतनगर से डूंगरपुर तक का कार्य पूरा हो गया है. उदयपुर तक का ट्रैक भी मार्च 2022 तक पूरा करने का लक्ष्य है. इलेक्ट्रिफिकेशन वर्क के तहत पूरे ट्रैक पर खास पोल लगाकर विद्दुत के लिए लाइन बिछाई जाएगी. डूंगरपुर रेलवे स्टेशन परिसर में इलेक्ट्रिफाइक ट्रेक का अलग से कार्यालय स्थापित किया जाएगा।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp