राहु-केतु का एक साथ होने जा रहा गोचर, इन 5 राशियों के लिए मुश्किल भरा समय - Khulasa Online

राहु-केतु का एक साथ होने जा रहा गोचर, इन 5 राशियों के लिए मुश्किल भरा समय

वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, राहु और केतु एक-दूसरे के समसप्तक रहते हैं। दोनों ग्रह एक साथ राशि परिवर्तन करते हैं। राहु का 12 अप्रैल 2022 को मेष राशि में गोचर होगा। मेष राशि के स्वामी ग्रह मंगल हैं। केतु भी इसी दिन शुक्र की राशि तुला में गोचर करेंगे। मेष राशि में राहु और केतु 18 महीनों तक रहेंगे। राहु-केतु के राशि परिवर्तन के दौरान 5 राशियों के जातकों को सावधान रहने की सलाह दी जाती है। मेष- मेष राशि के जातकों को अपने रिश्तों के प्रति सचेत रहने की सलाह दी जाती है। संभव है कि इस क्षेत्र में आपको मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। वित्तीय समस्याएं सामने आ सकती हैं। तुला- तुला राशि के जातकों के लिए राहु सप्तम भाव में और केतु प्रथम भाव में गोचर करेगा। इस दौरान आपको पैसों के लेन-देन में सावधान रहने की सलाह दी जाती है। अगर जातक की कुंडली में राहु और केतु शुभ स्थिति में रहते हैं तो उनके जीवन में विकास और परिवर्तन देखने को मिलते हैं। 6 अप्रैल तक इन 4 राशि वालों का जगेगा सोया भाग्य, सूर्य के समान चमकेंगे सितारे धनु -धनु राशि वालों के लिए यह समय शुभ नहीं है। इस दौरान आपको भविष्य को लेकर असुरक्षा हो सकती है। गोचर काल की अवधि में आपका एक गलत फैसला धन हानि करा सकता है। इस दौरान धन संबंधित कोई बड़ा फैसला न लें। मकर-मकर राशि के लिए राहु-केतु चौथे और दसवें भाव में क्रमश: गोचर करेंगे। केतु गोचर आपके लिए अनुकूल रहने वाला है। लेकिन राहु गोचर आपके लिए शुभ नहीं माना जा रहा है। इस दौरान आपको पारिवारिक मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। स्वास्थ्य संबंधी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। मार्च में इन 4 राशि वालों को बन रहे गुप्त धन प्राप्ति के योग, देखें क्या शामिल है आपकी राशि मीन- मीन राशि के लिए यह गोचर प्रतिकूल परिणाम लेकर आएगा। इस दौरान आपको आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ सकता है। स्वास्थ्य संबंधित परेशानियों का भी सामना करना पड़ सकता है।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp