राजस्थान साहित्य अकादमी के द्वारा बीकानेर के इन लेखकों को मिलेगा आर्थिक सहयोग राशि

खुलासा न्यूज बीकानेर/ उदयपुर। राजस्थान साहित्य अकादमी की विभिन्‍न योजनास्तर्गत 19 लाख रुपये के सहयोग दिए जाने की घोषणा की गई। अकादमी प्रशासक महोदय की स्वीकृतिनुसार अकादमी सचिव डॉ बसंत सिह सोलकी ने बताया कि – ‘पांदुलिपि प्रकाशन सहवोग’ योजना अन्तर्गत कुल 66 पांडुलिपियों पर लेखकों को 13.48 लाख रू, का आर्थिक सहयोग स्वीकृत किया गया है। यह जानकारी देते हुए‘नीड़ से बिछड़े परिंदे (काव्य), श्री यशपाल शर्मा यशस्वी, त्रय महिमा (काव्य) श्री कैलाश भारद्वाज, जयपुर, हो सके तो लौट आना (काव्य) श्री राजूरामबिजारणियाँ, बीकानेर, निर्वा पोटली (बाल साहित्य), श्री किशन रतनानी, कोटा, समय शिला पर उत्कीर्ण शब्द (काव्य) .डॉ. स्वर्णलता, जयपुर प्रत्येक को 25 हजार रु, स्वीकृत किए गये है। इसी प्रकार सिसकियाँ (काव्य), श्रीमती रागिनी चतुर्वेदी, अजमेर, बहती हवाओं के बीच सिह, (काव्य), डॉ. कविता किरण, फालना, दो चट्टानों के बीच (काव्य, मजुला बिष्ट, उदयपुर, सवेदनाओं के सागर | खण्डेलवाल, भावाजलि (काव्य), पवनेश्वरी वर्मा, जयपुर, नदी शब्दों की (काव्य), श्रीमती रेखा खराड़ी, डूंगरपुर, अभ्युत्थान (काव्य), श्री विनोद कुमार गौड़, दौसा, मेरी कविता मेरे गीत (काव्य), मीनू जेरा भसीन, भरतपुर अकित (काव्य) डॉ. ज्योति शर्मा, जयपुर, मैं थार हूं (काव्य), श्री महेन्द्र सिह सिसोदिया, जैसलमेर, रजत रश्मि के रंग (काव्य) श्री गौरीशकर गर्ग, उदयपुर, तुम सागर मैं नदियां (काव्य), रश्मि शर्मा, उदयपुर, मेरे हिस्से का आफ्ताब (काय्य), श्री पीएल. बामनियां, उदयपुर, मुझे एक घर चाहिए (काव्य), श्री उपेन्द्र सिह, डूगरपुर, पानी (काव्य) श्री चेतन औदिच्य, उदयपुर, अतस के तीर (काव्य). अनिता जैन ‘विपुला, उदयपुर, उपवन-उपवन गंध अनूठी (काव्य), श्रीमती विजयलक्ष्मी देथा, उदयपुर, तुम्हारे मेरे दरमियाँ (काव्य), श्री सुनील कुमार पण्डया, डूगरपुर, मन का कवि (काव्य), डॉ. हरीशचन्द्र चौबीसा, उदयपुर, मेरे गीत तुम्हारे (काव्य), श्री हरीश व्यास, प्रतापगढ़, रेवती का गजरा (कथा), डॉ. वीणा चुडावत, जोधपुर, हाल-ए-वक्‍्त (लघुकथा), डॉ. चन्द्रेश कुमार छतलानी, उदयपुर, सवेदनाओं के अक्स (लघुकथा), श्री गोविन्द सिह चौहान, भीम, जहाँ रहो खुश रहो (कथा), श्री नवीन भूटानी, जयपुर, जिदगी के दरवाज़े (कथा), बीना करमचदाणी, जयपुर, अग्निगधा (निब्ध), नीता चौबीसा, बासवाड़ा, चार लोग क्या कहेंगे (नाटक), श्री मोहन लाल मौर्य, अलवर, जीवन है रग मच (नाटक), श्रीमती हेमलता दाधीच, उदयपुर, राम कथा एवं तुलसी साहित्य (आलोचना), श्री देवदत्त शर्मा, अजमेर, हिना के कबूतर (बाल साहित्य), कविता मुकेश, नई दिल्‍ली, खुलती रही किताब (काव्य).प५. लोकनारायण शर्मा, कोटा, दीप बनकर मैं जलू (काव्य), डॉ सिम्मी सिह, उदयपुर, किराए के कान (काव्य), निर्मला शर्मा, उदयपुर, मन के स्वर (काव्य), किरण आगाल, भीलवाड़ा, शब्द प्रवाह (काव्य), श्री रामजीलाल घोडेला, बीकानेर, सुनो घग्घर (काव्य), श्री मदन गोपाल लढ़ा, बीकानेर, छोटा दीया (काव्य), श्री राजकुमार खटीक, काकरोली, हाथो की लकीरें (काव्य), तारा प्रीत’ प्रजापत, जोधपुर, पौनी सी ही चरवी जिन्दगी (काव्य), अर्चना जैन, जयपुर, धूप कितनी तेज है (काव्य, विनीता निर्शझर, अजमेर, कुण्डलिया सतसई (काव्य), परमजीत कौर, श्रीगगानगर, चाहत के मौन गलियारे में (काव्य), मीनाक्षी पारीक, जयपुर, मन की लहरें (काव्य), प्रज्ञा जैन, उदयपुर, रास्ते सीधे भले होते नहीं (काव्य), श्री पुष्कर गुप्तेश्वर, उदयपुर, हथेलियों में उगते गुलाब (काव्य), श्री दर्पण चण्डालिया, उदयपुर, चितन के मोती (काव्य). श्री अशोक जैन मंथन, उदयपुर, मन-बावरा (काव्य), अनुजा शर्मा, पाली, बनके खुशबू बिखर गया कोई (काव्य), अब्दुल वाहदि अशरफी, बीकानेर, रिश्तों की धरोहर (काव्य), बिजू खान ऊर्फ विजय कवि अक्कासर, बीकानेर , अनहद नाद (काव्य), भावना शर्मा, अजमेर, अब पेड़ फल बेचेगे (काव्य), मो. बिलाल पठान, उदयपुर, स्याह उजालें (काव्य), श्रीमती दिव्या सिह मिश्रण, उदयपुर, सृजन सौरभ (काव्य), कुलदीप सिंह भाटी, जोधपुर, सुनो लड़कियों (काव्य), अजु अग्रवाल ‘लखनवी’,, अजमेर कभी यथू भी ही.. (काव्य), साकार श्रीवास्तव फलक, जयपुर, नमन शहीदों को (काय्य), श्री कृष्ण कुमार सैनी, दौसा, मुस्कुराती खामोशिया (काव्य), प्रिया गुप्ता, झालावाड़, मन के भीतर मन (काव्य), डॉ. सुमन बिस्सा, जोधपुर, सुगध (काव्य), श्री लक्ष्मी नारायण खत्री, जैसलमेर, प्रेम-यात्रा (काव्य) मीरा कृष्णा (सरला सोनी) जोधपुर, मेरे आस-पास (काव्य), शालिनी अग्रवाल ‘सुकून’, जयपुर, मिट॒टी के इस बदन में कुछ सुराख कर दूं (काव्य), विपिन जैन, अजमेर, हार्ट इमोजी की धड़कन (कहानी), रोचिका अरुण शर्मा, चैन्नई, जादूई बगीचा (कहानी), उषा सोमानी, चित्तौड़गढ़, जोग लिखी (कहानी), सुनिता विश्नोई, जयपुर, वो बारिश सी लड़की (कहानी), डॉ. शिल्पा जैन सुराणा, बीकानेर, कहानी है कि खत्म नहीं होती (कहानी) श्री हरीदास व्यास, जोधपुर, लघुकथा कोमुदी (लघुकथा), शकुतला अग्रवाल ‘शकुन’, भीलवाड़ा, पत्नीस्य मूडम (व्यंग्य), डॉ. अजय जोशी, बीकानेर, शुक सप्तति (अनुवाद ) करुणा दशोरा, उदयपुर, चिड़ियां रानी आओ ना (बाल काव्य), श्यामा शर्मा, कोटा, नन्‍हीं बातें (बाल काव्य), अनिता गगाधर, अजमेर, एक वन में दो-दों राजा तथा अन्य तीन नाटक (बाल नाटक), श्री सुनील गज्जाणी, बीकानेर, बचपन (बाल कहानी), डॉ. अलका जैन, जयपुर, नानी की नेहल (बाल काव्य) प्रीतिमा पुलक. झालावाड़, अजबपुर की कथा (बाल कहानी) श्री सदीप मील, सीकर प्रत्येक को 15 हजार रु, स्वीकृत किए गये है । प्रकाशित ग्रंथों सहयोग योजनान्तर्गत कुल 31 पुस्तकों पर लेखकों को 3.72 लाख रु. का आर्थिक सहयोग स्वीकृत किया गया है। यथा – मस्त मयूरा नाचे, श्री जयसिह आशावत, बूंदी, हिलोरे ज्ञानवती सक्सेना, जयपुर, अनुगूज, ऊर्वशी चौधरी, जयपुर, कर जाऊंगा पार मैं दरिया आग का … श्री शौकत हुसैन मसूरी, उदयपुर, बावली राधा, श्री कैलाश चन्द्र शर्मा, जयपुर रेगमाही (रेत मछली) ज्योत्सना सक्सेना, जयपुर, मन की टकसाल श्री बजरग सोनी, जयपुर, वक्‍त के हस्ताहार श्री लोकेशचन्द्र चौबीसा, उदयपुर, कोहरे में लिपटी बात, डॉ. हरिमोहन सारस्वत, श्रीगगानगर, मन के मनके श्री कमलेश शर्मा, जयपुर, हाशिये पर आदमी, श्री अश्विनी कुमार त्रिपाठी, बारां, मन वललकी रितु सिर वर्मा, जयपुर, आहट फिर आज तेरी, कल्पना गोयल, जयपुर, ख्वाबों में वो, मनोहरपुरा, निर्शर मन, मनोरमा माथुर, जयपुर, गुब्बार डॉ. अजु सक्सेना, जयपुर रू 2/3 ६ नरेन्द्र कुमार शर्मा, काकरोली, जिस उम्मीद से निकला डॉ. लहरी राम मीणा, व७ ….. री आर घुघरालें बाल, अनुपमा तिवाड़ी, प्रेम आजाद, श्री गोपाल नामेन्द्र, कोटा, लॉकडाउन रोजनामचा श्री सुनील प्रसाद शर्मा, जयपुर, मनके, प्रतिभा जोशी, अजमेर, लाइलाज, श्री रवीन्द्र कुमार यादव, बाड़मेर, वह अमर कृति श्री भागचन्द गुर्जर, जयपुर, किस्सागोई अदीबों के निज की जादुई कथाएं, उमा, जयपुर, नया जन्म, हिमादी वर्मा, जयपुर, अतीत के पन्नों से, रतना कौशिक, जयपुर, गोरस की गागर श्री मनोहर श्रीमाली, उदयपुर, रिश्तों के आवरण श्री लक््मीनारायण भटनागर, जोधपुर आनद मंजरी श्री त्रिलोक सिंह ठक्रेला, सिरोही, बचपन तो मुस्काता है डॉ. विजय नमैनावटी, उदयपुर प्रत्येक को 12,000,//रुपये स्वीकृत किए गए हैं। साहित्यिक पत्र-पत्रिका सहयोग योजना में 65 पत्रिकाओं पर 75 हजार रू. का सहयोग स्वीकृत किया गया है यथा – साहित्यिचल (द्विमासिक), मरू नवकिरण (त्रैमासिक), जूनी ख्यात शोध पत्रिका (अर्द्धवार्षिक) माही सदेश (मासिक), बाल वाटिका (मासिक) प्रत्येक को 15 हजार क्त. स्वीकृत किए गए है। साहित्यकार आर्थिक सहयोग अन्तर्गत 1.08 लाख कु. का आर्थिक सहयोग स्वीक्त किया गया। यथा – श्री श्याम सुंदर ‘सुमन’ भीलवाड़ा, मनशाह ‘नायक’, जोधपुर, मोहन थानवी, बीकानेर, श्री श्याम अंकुर, बांरा, पं. हरिओम तरग, मेड़ता शहर, श्री गोविंद सिंह, भीम प्रत्येक को 18 हजार क्. स्वीकृत किए गए है।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp