>


जयपुर। राजस्थान में तीन विधानसभा सीटों पर अब तक कांग्रेस दो सीटों यानी सहाड़ा और सुजानगढ़ पर बड़ी बढ़त ले ली है। वहीं, भाजपा राजसमंद सीट पर जीत गई है। भाजपा को सबसे बड़ा धक्का सुजानगढ़ सीट पर लग सकता है जहां वह तीसरे नंबर पर चल रही है। यहां कांग्रेस पहले, आरएलपी दूसरे और भाजपा तीसरे स्थान पर है। सहाड़ा से कांग्रेस एकतरफा जीत की ओर बढ़ रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का कहना है कि तीनों सीटों के नतीजे कुछ भी रहे।
राजसमंद: भाजपा-कांग्रेस में कड़ा मुकाबले के बीच भाजपा की जीत

24 राउंड के बाद राजसमंद में बीजेपी की दीप्ति माहेश्वरी 5122 वोट से आगे हैं। उनकी जीत तय है। क्योंकि आखिरी राउंड में बहुत कम वोटों की गिनती होनी है।
22 राउंड के बाद दीप्ति माहेश्वरी 3735 वोट से आगे। कांग्रेस के तनसुख बोहरा को 63045 और दीप्ति को 66780 वोट मिले। अब 3 राउंड की मतगणना शेष।
18वें राउंड के बाद बीजेपी की दीप्ति माहेश्वरी 4397 वोट से आगे। कांग्रेस के तनसुख बोहरा कांग्रेस को 52163 और बीजेपी को 56560 वोट मिले। अब तक 75त्न मतगणना हो चुकी है। 7 राउंड की मतगणना शेष है।
राजसमंद में 16वें राउंड के बाद बीजेपी की दीप्ति माहेश्वरी 1772 वोट से आगे। तनसुख बोहरा कांग्रेस को 47306 जबकि दीप्ति माहेश्वरी को 49078 वोट मिले।
राजसमंद में 15 राउंड की गिनती हो चुकी है। यहां दीप्ति माहेश्वरी की बढ़त बरकरार है। वह 1696 वोट से आगे हैं। अब यहां 10 राउंड की मतगणना बाकी है। यहां अब तक 64त्न मतगणना पूरी हो चुकी है।राजसमंद में 14वें राउंड के बाद बीजेपी की दीप्ति माहेश्वरी 2185 वोट से आगे। तनसुख बोहरा कांग्रेस को 41907 वोट मिले, जबकि दीप्ति को 44092 वोट मिले।
राजसमंद में 12 राउंड के बाद बीजेपी की दीप्ति माहेश्वरी 1859 वोट से आगे। तनसुख बोहरा कांग्रेस को 36776 और दीप्ति माहेश्वरी को 38635 वोट मिले।
राजसमंद में 11 राउंड के बाद बीजेपी की दीप्ति माहेश्वरी 2502 वोट से आगे। कांग्रेस को 33678 वोट मिले जबकि बीजेपी को 36180 वोट मिले।
राजसमंद में 6वें राउंड के बाद बीजेपी 1550 वोट से आगे है। बीजेपी प्रत्याशी दीप्ति को 19947 वोट मिले, जबकि कांग्रेस को 18397 वोट मिले हैं।
राजसमंद में 5 राउंड के बाद बीजेपी की दीप्ति माहेश्वरी 715 वोट से आगे। कांग्रेस के तनसुख बोहरा को मिले 15502 जबकि दीप्ति को 16217 वोट मिले हैं।
सहाड़ा: बड़ा उलटफेर नहीं हुआ तो कांग्रेस की गायत्री देवी की जीत लगभग तय

सहाड़ा में 14 राउंड के बाद कांग्रेस की गायत्री देवी 19985 वोट से आगे। यहां उन्हें 41536 वोट मिले जबकि भाजपा के डॉ. रतन लाल जाट को 21551 और आरएलपी के बद्रीलाल जाट को 5954 वोट मिले।
सहाड़ा में 12वें राउंड में कांग्रेस की गायत्री देवी की 16532 वोटों की लीड है। कांग्रेस को 35575 वोट मिले जबकि भाजपा के रतनलाल जाट को 19043 और आरएलपी के बद्रीलाल जाट को 4740 वोट मिले। यहां लोगों ने नोटा भी खूब दबाया। यहां नोटा में 1583 वोट पड़े।
10वें राउंड में कांग्रेस की गायत्री देवी 13781 वोट से आगे हैं। उन्हें 29710 वोट मिले, जबकि भाजपा के डॉ. रतन लाल जाट को 15929 और आरएलपी बद्रीलाल जाट को 3396 वोट मिले हैं।
सुजानगढ़: संक्रमित हुए कांग्रेस प्रत्याशी मेघवाल

सुजानगढ़ में 12 राउंड के बाद कांग्रेस 13878 वोटों से आगे। यहां कांग्रेस को 30113 जबकि दूसरे नंबर पर आरएलपी को 16235 और तीसरे नंबर की बीजेपी को 15784 वोट मिले।
सुजानगढ़ में 6वें राउंड में कांग्रेस के मनोज मेघवाल ने 4222 वोट की बढ़त बना ली। यहां कांग्रेस को 14852, आरएलपी को 10630 और तीसरे नंबर पर रही। बीजेपी को 8979 वोट मिले हैं। सुजानगढ़ कांग्रेस प्रत्याशी मनोज मेघवाल कोरोना पाजिटिव हो गए हैं।
सुजानगढ़ में तीसरे राउंड में कांग्रेस के मनोज मेघवाल 2811 वोटों से आगे। भाजपा यहां तीसरे नंबर पर है। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया मूल रूप से चूरू के ही रहने वाले हैं। ऐसे में अगर भाजपा तीसरे नंबर पर रहेगी तो यह उनके लिए बड़ा झटका होगा।
सुजानगढ़ में हनुमान बेनीवाल की पार्टी ने भाजपा को तीसरे स्थान पर धकेला
उपचुनाव में सबसे चौंकाने वाले रुझान सुजानगढ़ के हैं। कांग्रेस उम्मीदवार मनोज मेघवाल सहानुभूति फैक्टर के चलते जीत रहे हैं। सबसे चौंकाने वाला है यहां भाजपा उम्मीदवार खेमाराम मेघवाल का तीसरे स्थान पर जाना। हनुमान बेनीवाल की पार्टी आरएलपी के उम्मीदवार सोहनलाल नायक सुजानगढ़ में दूसरे स्थान पर हैं। भाजपा उम्मीदवार को भितरघात का सामना करना पड़ा है। हनुमान बेनीवाल ने एनडीए से अलग होकर खुद भले न जीते लेकिन भाजपा को हरवा दिया है। भाजपा उम्मीदवार का तीसरे स्थान पर रहना एक बड़ा झटका माना जा रहा है।

सहाड़ा में पितलिया फैक्टर से भाजपा को नुकसान, गायत्री देवी को सहानुभूति का वोट मिला
सहाड़ा में भाजपा के बागी लादूलाल पितलिया को जबरन चुनावी मैदान से हटने के लिए बाध्य करने के विवाद से भाजपा को भारी नुकसान हुआ है। पितलिया के मन में चुनाव न लडऩे देने की टीस के वायरल ऑडियो से भाजपा को नुकसान होता दिख रहा है। दिवंगत कैलाश त्रिवेदी की पत्नी गायत्री ​त्रिवेदी को सहानुभूति का वोट मिला है।