>


खुलासा न्यूज,बीकानेर। शहर के गंगाशहर थानान्तर्गत रविवार शाम एक निर्माणाधीन धराशाही हुई बिल्डिग़ में दबकर मारे गये तीन श्रमिकों के परिजनों को अब 13-13 लाख रूपये मिलेंगे। प्रशासन और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई द्वि स्तरीय वार्ता में यह तय हुआ। मृतक श्रमिकों को ठेकेदार की ओर से सात-सात लाख,श्रम विभाग की ओर से पांच-पांच लाख तथा मुख्यमंत्री सहायता कोष से एक-एक लाख रूपये दिएं जाएंगे। जिसके बाद मोर्चरी के आगे प्रदर्शन कर रहे परिजनों व जनप्रतिनिधियों ने शवों के पोस्टमार्टम करवाने की हामी भरी। इस वार्ता में प्रशासन की ओर से एडीएम सिटी अरूण प्रकाश शर्मा,नगर निगम आयुक्त ए एच गौरी शामिल रहे। वहीं जनप्रतिनिधि गोपाल गहलोत,गजेन्द्र सिंह सांखला,मोहन सुराणा,सोहनलाल चांवरिया,नंदू गहलोत,मनोज विश्नोई शामिल हुए। जिसके बाद धरना उठाया गया। हादसे में भीनासर निवासी शेखरचंद पुत्र मालाराम रेगर, नेमीचंद पुत्र लादूराम व देवकरण पुत्र लादूराम की मौत हो गई। इनमें से दो सगे भाई थे। दो मृतकों के श्रमिक कार्ड मौजूद हैं, उनके लिए प्रशासन प्रस्ताव भेज देगा। तीसरे का श्रमिक कार्ड अभी मिला नहीं है। अगर कार्ड नहीं है तो किसी न किसी प्रक्रिया के तहत मदद करवाई जाएगी।
एफआईआर दर्ज हुई
इस मामले में गंगाशहर थाने में बिल्डिंग के मालिक तरुण यादव और ठेकेदार सांवरमल के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इन पर गैर इरादतन हत्या का मामला है लेकिन अब तक गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। घटिया निर्माण सामग्री का उपयोग करने और इंजीनियरिंग का ध्यान नहीं रखने का आरोप भी लगाया गया है।
गब्बर रेस्टारेंट भी पहुंची निगम टीम
उधर इस मामले में बिल्डिंग मालिक तरूण यादव द्वारा संचालित दीनदयाल उपाध्याय सर्किल स्थित गब्बर रेस्टोरेंट भी निगम का दस्ता पहुंचा और यहां बाहर नाप तौल कर अतिक्रमण को चिन्हितकर उसे हटाया गया।