दहेज को लेकर ससुराल पक्ष ने महिला को उतारा मौत के घाट - Khulasa Online

दहेज को लेकर ससुराल पक्ष ने महिला को उतारा मौत के घाट

श्रीगंगानगर। पुरानी आबादी में सुखवंत सिनेमा के निकट निवासी एक विवाहिता की हत्या का मामला सामने आया है। महिला थाना पुलिस ने मृतका के हनुमानगढ़ निवासी भाई विक्रम वर्मा की रिपोर्ट पर पति सुशील खटोड़ व उसकी मां पर हत्या के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने मृतका के शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया है। मामले की जांच महिला अपराध अन्वेषण सेल के सीओ करेंगे। महिला थाना एसएचओ सीआई राजेश ने बताया कि मृतका के भाई ने परिवाद में बताया है कि उनकी बहन रोमिका की 1997 में पुरानी आबादी निवासी सुशील खटौड़ से शादी हुई थी। आरोपी सरकारी अध्यापक है इसलिए शादी के बाद से रोमिका को दहेज को लेकर परेशान करता आ रहा था। आरोपी के साथ अनेक बार सामाजिक तौर पर पंचायतें की गईं लेकिन आरोपी का रवैया कुछ समय बाद बदलकर वापस तंग परेशान करने वाला ही हो जाता था। आरोपी ने अपनी मां के साथ मिलकर अपनी पत्नी रोमिका की हत्या कर दी है। पुलिस ने कार्यवाहक सीओ ओमप्रकाश चौधरी की निगरानी में जिला अस्पताल में मेडिकल बोर्ड से शव का पोस्टमार्टम करवाया है। पति सुशील और उसकी मां के खिलाफ हत्या के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुरानी आबादी पुलिस ने शनिवार रात को ही उस कमरे को ताला लगवा दिया था जिस कमरे में रोमिका का शव बरामद किया गया। अब जांच अधिकारी महिला अपराध अन्वेषण सेल के सीओ नरेंद्र पूनिया एमओबी और एफएसएल टीम के साथ आरोपियों के घर के कमरे की तलाशी लेंगे और साक्ष्य जुटाने के प्रयास करेंगे। इस दौरान मौके पर मौजूद रहने को मृतका रोमिका के परिजनों को भी बुलाया गया है। उनके सामने ही कमरा खोला जाएगा। मृतका के परिजनों ने बताया है कि आरोपी सुशील अत्यधिक शराब सेवन का आदी है और मानसिक अवसाद में रहता है। पति साइको और शराबी, 24 वर्षों के दौरान अनेक बार मरपीट कर पंचायत में मांग चुका माफी: मृतका रोमिका के चचेरे भाई नोहर निवासी प्रदीप वर्मा ने बताया कि रोमिका और हमारा परिवार मूलत: नोहर का रहने वाला है। रोमिका के दोनों सगे भाई अविनाश और विक्रम हनुमानगढ़ में रहने लग गए हैं। रोमिका का पति मानसिक अवसाद में रहता है और 24 वर्षों के शादी के जीवन में वह असंख्य बार रोमिका से मारपीट कर चुका है। अनेक बार सामाजिक पंचायतें भी हुईं ताकि वह अपना रवैया बदले और इनका वैवाहिक जीवन सामान्य हो सके। लेकिन आरोपी हर बार पंचायत में माफी मांग लेता था। 13 जून को रोमिका को मारपीट कर घर से निकाल दिया था। 17 तारीख को उसे पंचायत कर वापस भेजा गया था। 19 जून को उसने अपने भाइयों को फोन कर बताया कि उससे मारपीट की गई है। उसे आकर ले जाओ। 20 तारीख की रात को उसके मरने की सूचना दी गई।  
error: Content is protected !!
Join Whatsapp