सडक़ हादसे में घायलों बचाने पहुंचे लोगों को कैंपर ने मारी टक्कर 2 की दर्दनाक मौत - Khulasa Online

सडक़ हादसे में घायलों बचाने पहुंचे लोगों को कैंपर ने मारी टक्कर 2 की दर्दनाक मौत

नागौर। जिले के डीडवाना क्षेत्र में लालासरी गांव में एक सडक़ हादसे में घायलों को बचाने पहुंचे लोगों में पीछे से आ रही कैम्पर घुस गई और उन्हें रौंद दिया। शनिवार देर रात्रि में अचानक हुए इस भीषण हादसे में 2 व्यक्तियों की मौके पर ही मौत हो गई तो करीब 4 जने गंभीर रूप से घायल हो गए, जिनमे से 1 पुरुष की हालत गंभीर होने पर उसे जयपुर रेफर किया गया है और एक महिला और 2 बच्चों का राजकीय बांगड़ अस्पताल डीडवाना में उपचार चल रहा है। हादसे के बाद मौके पर पहुंची मौलासर थाना पुलिस ने दोनों शव को राजकीय बांगड़ अस्पताल डीडवाना की मोर्चरी में रखवाया है, जहां उनका आज पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। हादसे के बाद पिकअप व कैम्पर चालक वाहनों को वहीं छोड़ मौके से भाग गए थे,अब पुलिस ने पिकअप वाहन व कैम्पर वाहन को जब्त कर थाने में खड़ा करवा दिया है। पुलिस से मिली जानकारी अनुसार में ललासरी गांव में हाइवे पर चल रही एक ऊंट गाड़ी को पिकअप वाहन ने जोरदार टक्कर मार दी और भाग गया। हादसे की आवाज सुनकर आस-पास ही रहने वाले महिला-पुरुष ऊंट गाड़ी में सवार घायलों को बचाने हाइवे की तरफ दौड़े और रेस्क्यू शुरू किया। वो घायलों को बचाकर सडक़ से साइड में लाते उससे पहले ही हाइवे पर पीछे से आ रहे एक कैम्पर वाहन ने रेस्क्यू में लगी हुई महिला-पुरुषो की भीड़ को रौंद दिया। हादसे में ऊंट गाड़ी सवार बुधाराम मेघवाल पुत्र गणपतराम (60) निवासी सुजानपुरा सीकर व भीड़ में शामिल भागीरथ पुत्र रतनाराम प्रजापत (48) निवासी लालासरी की मौके पर ही मौत हो गई और नंदलाल पुत्र बागाराम जाट (50) निवासी लालासरी, गीता देवी पत्नी जाफररराम बनबागरिया (40) निवासी लालासरी, रतनी पुत्री जाफरराम बनबागरिया (12) निवासी लालासरी व महेंद्र पुत्र जाफरराम बनबागरिया (7) निवासी लालासरी गंभीर रूप से घायल हो गए। एक्सीडेंट की सुचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को राजकीय बांगड़ अस्पताल डीडवाना पहुँचाया गया। यहां नंदलाल पुत्र बागाराम जाट (50) निवासी लालासरी की हालत गंभीर होने के चलते उसे जयपुर रेफर कर दिया गया है दोनों शव को अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है, जहां उनका आज पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। हादसे के बाद पिकअप व कैम्पर चालक वाहनों को वहीं छोड़ मौके से भाग गए थे,अब पुलिस ने पिकअप वाहन व कैम्पर वाहन को जब्त कर थाने में खड़ा करवा दिया है। मरने से पहले ऊंट गाड़ी सवार बोला- मेरे बच्चों तक ये आम पहुंचा देना ऊंट गाड़ी सवार बुधाराम मेघवाल डीडवाना से नमक भरकर अपने गांव ले जा रहा था। इस दौरान उसने अपने बच्चों के लिए आम भी खरीदे हुए थे। हादसे के बाद जब ऊंट गाड़ी उछल गई और वो बुरी तरह घायल हो गया था। इस दौरान उसे बचाने आए लोगों को उसने कहा कि में तो मरने वाला हूं, पर ये आम किसी तरह से मेरे बच्चों तक पहुंचा देना। लोग उसे बचाते और संभालते उससे पहले ही पीछे से आई एक कैम्पर ने एक बार फिर कहर बरपा दिया।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp