कोरोना के टीका लगवाने का झांसा देकर युवक की नसबंदी, मुक़दमा दर्ज

खुलासा । उदयपुर में कोरोना के टीका लगवाने का झांसा देकर युवक की नसबंदी करने का मामला सामने आया है। मामले की रिपोर्ट भूपालपुरा थाने में दर्ज होने के बाद पुलिस कार्रवाई में जुट गई है। शादीशुदा यह युवक निःसंतान है। युवक ने बताया कि अस्पताल में उसे दवा लगाकर इंजेक्शन लगाया गया। उसके बाद क्या हुआ, उसे कुछ ध्यान नहीं। बाद में पता चला कि नसबंदी हो गई है। मजदूरी के लिए खड़ा था, 2 हजार का लालच दिया कैलाश पुत्र बाबूलाल गमेती निवासी गुरुद्वारा के पास, प्रतापनगर ने भूपालपुरा थाने में केस दर्ज कराया कि वह 29 दिसंबर की सुबह बेकनी पुलिया पर मजदूरी के लिए खड़ा था। इस दौरान सेक्टर-5 निवासी नरेश चावत आया। उसने दो हजार रुपए का लालच दिया और कोरोना का टीका लगवाने के बहाने स्कूटी पर पुला की तरफ किसी अस्पताल में ले गया। इसके बाद उसे इंजेक्शन लगाकर बेहोश किया और नसबंदी का ऑपरेशन करवा दिया। फिर बहन के घर छोड़कर 1100 रुपए देकर चला गया। मां बोली- इकलौता बेटा, कोई पोता-पोती नहीं युवक और उसके परिवार के लोग काफी परेशान हैं। आरोपी पर कार्रवाई को लेकर थाने में मामला दर्ज कराया गया है। पीड़ित की मां ने कहा कि उनका सिर्फ एक बेटा है और एक बहू है। कोई पोता-पोती नहीं। जैसा हमारे साथ हुआ वैसा किसी के साथ नहीं होना चाहिए। भूपालपुरा थाने के एएसआई यशपाल सिंह ने बताया कि कैलाश गमेती की रिपोर्ट पर एससी-एसटी एक्ट में मामला दर्ज किया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp