इतनी महंगाई- दीवाली क्यूं आई? बीकानेर में पेट्रोल 116.90, लाल टमाटर सेब से मंहगा

बीकानेर । त्यौहार के मौसम उलटा पुलटा मौसम के साथ भीषण महंगाई ने सबको त्रस्त कर दिया है। सबसे ज्यादा सीमित आय वाले मध्यम वर्गीय परिवारों पर पड़ी है। सरकारी कर्मचारियों को तो सरकार ने डीए बढ़ा कर बोनस जारी कर राहत दे दी पर छोटे मोटे कारोबार या प्राईवेट नौकरी करने वाले जायं तो कहां जायं। बीकानेर में इस माह 12-13 बार पेट्रोल डीजल की कीमतों में उछाल आया है। शुक्रवार को भी 38 पैसे प्रति लीटर बढ़ गए। अब पेट्रोल 116.90 पै. व डीजल 107 रु.90 पै. प्रति लीटर हो गया है। महंगे पेट्रोल-डीजल से बड़े ट्रॉसपोर्टेशन का प्रभाव सभी वस्तुओं पर देखा जा रहा है। यहां तक कि फल सब्जियों की कीमतें भी आम आदमी की जेब की पहुंच से बाहर जा रही है। आलू प्याज से लेकर कोई भी सब्जी 40 रु. किलो से कम नहीं है। रसोई की नियमित वस्तु लाल टमाटर तो 60 रु. से 80 रु. प्रति किलो तक पहुंच गया है। लाल टमाटर से सेब की कीमत भी कम है। अच्छी क्वालिटी का सेब भी 50 रु. किलो में उपलब्ध है। खाद्य तेल, किराना, सामग्री, चीनी समेत खाने-पीने की सभी वस्तुएं महंगी है। सभी परिवारों का प्रतिमाह खर्चा 2500 रु. से 3000 रु. महीने बढ़ गया है। ऐसे में त्यौहार उल्लास उमंग नहीं एक चिंता बनकर आया प्रतीत होता है।
error: Content is protected !!