एसबीआई बैंक मैनेजर की जेल कस्टडी में मौत - Khulasa Online

एसबीआई बैंक मैनेजर की जेल कस्टडी में मौत

नागौर। जिले के खींवसर थाना क्षेत्र की बिरलोका एसबीआई ब्रांच के पौने दो साल पुराने एक लोन फर्जीवाड़े के मामले में 3 दिन पहले आरोपी वकील के साथ गिरफ्तार किए गए स्क्चढ्ढ बैंक मैनेजर सत्यनारायण की शुक्रवार को नागौर जेल में मौत हो गई थी। शनिवार को मृतक स्क्चढ्ढ बैंक मैनेजर सत्यनारायण के परिजन और समाज के लोगों ने खींवसर पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए शव लेने से इनकार कर दिया और मामले में खींवसर स्॥ह्र और पुलिसकर्मियों को दोषी ठहराते हुए इनके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने और मृतक सत्यनारायण को आरोपमुक्त करने की मांग लेकर छ्वरुहृ हॉस्पिटल के बाहर धरने पर बैठ गए हैं। धरनास्थल पर बैठी सरोज प्रजापत का कहना है कि पुलिस को पहले से पता था कि उनकी तबियत खराब है। बावजूद इसके उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराने के बजाय कोर्ट में पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया। उन्होंने बताया कि लोन फर्जीवाड़े वाले मामले की स्नढ्ढक्र में उनका नाम नहीं था और धोखाधड़ी करने वाले ऋणी और मुख्य आरोपी पुखराज ने भी बाकायदा एक शपथ पत्र देकर मामले की पूरी जिम्मेदारी खुद लेते हुए मैनेजर सत्यनारायण प्रजापत को निर्दोष बताया था। बावजूद इसके खींवसर स्॥ह्र और कुछ पुलिसकर्मियों ने उनकी सामाजिक प्रतिष्ठा धूमिल करने के उद्देश्य से उनके रिटायरमेंट से महज 3 दिन पहले उन्हें ऑन ड्यूटी जोधपुर से गिरफ्तार कर लिया। परिजनों का कहना है कि गिरफ्तारी के बाद से ही मैनेजर सत्यनारायण प्रजापत की तबियत खराब थी और वो लगातार 2 दिनों से पुलिस को उनके मेडिकल चेकअप करवाने की मांग कर रहे थे। बावजूद इसके पुलिस ने उनका चेकअप नहीं करवाया। इसके बाद जब जेल में उनकी तबियत खराब हुई और दूर खड़े परिजनों ने उन्हें हॉस्पिटल ले जाने की गुहार लगाईं तो किसी ने भी सुनवाई नहीं की और उन्होंने तड़पते हुए दम तोड़ दिया। ये था मामला जिले के खींवसर थाना क्षेत्र की बिरलोका स्क्चढ्ढ ब्रांच के पौने दो साल पुराने एक लोन फर्जीवाड़े के मामले में 3 दिन पहले एक आरोपी वकील के साथ गिरफ्तार किए गए स्क्चढ्ढ बैंक मैनेजर सत्यनारायण की शुक्रवार को नागौर जेल में मौत हो गई है। मृतक स्क्चढ्ढ बैंक मैनेजर व वकील को शुक्रवार को ही कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में नागौर जेल भेजा गया था। जेल पहुंचने के एक घंटे बाद ही बैंक मैनेजर की हालत बिगड़ गई। आनन-फानन में जेल प्रसाशन उसे लेकर छ्वरुहृ हॉस्पिटल पहुंचा। जहां डॉक्टर्स ने उसे डेड घोषित कर दिया था।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp