सोना खरीदने का सही समय, चांदी भी हुई सस्ती - Khulasa Online

सोना खरीदने का सही समय, चांदी भी हुई सस्ती

मुंबई। इस साल सोने-चांदी के आभूषणों की मांग पिछले साल की तुलना में ज्यादा है। सोने-चांदी के दामों में लगातार आ रही गिरावट के कारण सर्राफा बाजार की रौनक लौट आई है। पिछले दा दिनों में ही सोना 2300 रुपए प्रति दस ग्राम तक टूट चुका है। इसी तरह चांदी के भाव भी इन दस दिनों में 6200 रुपए प्रति किलोग्राम उतर चुके है। सावों की मांग के बावजूद सोने-चांदी के दामों में आई गिरावट ने सर्राफा बाजार की रौनक लौटा दी है। जनवरी में सोने-चांदी के दामों में आई ऐतिहासिक तेजी के बाद लोगों ने सर्राफा बाजार से दूरी बना ली थी। सर्राफा कमेटी के अध्यक्ष कैलाश मित्त्तल ने बताया कि हॉलमार्क से ग्राहकों की आभूषणों के प्रति विश्वसनीयता बढ़ गई है। सोना-चांदी के साथ स्टोन वाली ज्वैलरी का चलन भी बढ़ गया है। बीते साल अगस्त में सोना अपने उच्चतम स्तर 58 हजार रुपए प्रति दस ग्राम एवं चांदी 78 हजार रुपए प्रति किलो पर पहुंच गई थी। जो अब यह टूटकर क्रमश: 52,700 और 65,900 के भाव पर बिक रहे हैं। इस तरह सोना अपने उच्चतम स्तर से करीब 10,000 और चांदी 13,000 रुपए नीचे आ गए है। इसके साथ ही ज्वैलरी पर हॉलमार्क की अनिवार्यता ने त्योहारों पर आभूषणों की मांग बढ़ा दी है। सोने की मांग 18 फीसदी घटकर 135.5 टन इस साल भारत में सोने की मांग 18 फीसदी घटकर 135.5 टन रह गई है। वल्र्ड गोल्ड काउंसिल ने कहा कि मुख्य रूप से कीमतों में तेज वृद्धि के कारण मांग घटी है। वर्ष 2021 के पहले तीन महीनों में सोने की मांग 165.8 टन पर रही थी। सोने की मांग पर डब्ल्यूजीसी द्वारा जारी रिपोर्ट में कहा गया कि कीमत के लिहाज से जनवरी-मार्च में सोने की मांग 12 फीसदी घटकर 61,550 करोड़ रुपए रह गई। एक साल पहले की इसी अवधि में यह आंकड़ा 69,720 करोड़ रुपए था। जनवरी 2022 से बढऩे लगी हैं कीमतें जनवरी में सोने की कीमतें बढऩे लगी और कीमती धातु इस साल की पहली तिमाही में आठ फीसदी बढक़र 45,434 रुपए प्रति 10 ग्राम (टैक्स के बिना) के स्तर पर पहुंच गई। देश में आभूषणों की कुल मांग 26 फीसदी गिरकर 94.2 टन रह गई, जो पिछले साल की इसी अवधि में 126.5 टन थी। इस दौरान मूल्य के लिहाज से आभूषणों की मांग में 20 फीसदी की कमी हुई। डब्ल्यूजीसी की रिपोर्ट में कहा गया कि मार्च तिमाही में सोने की वैश्विक मांग 34 फीसदी बढक़र 1,234 टन हो गई। की ओर से जारी पूर्वानुमान के अनुसार देश की राजधानी दिल्ली में अभी गर्म हवाएं चलती रहेंगी और आज यह पारा 44 डिग्री तक जा सकता है वहीं न्यूनतम सामान्य से दो डिग्री अधिक 25.8 रहेगा। बता दें कि आज सुबह करीब 9 बजे एयर क्वालिटी इंडेक्स (्रक्तढ्ढ) 304 दर्ज हुआ। मौसम विभाग ने बताया कि गर्म हवाओं से पश्चिमी मध्य प्रदेश, विदर्भ ओर जम्मू , पंजाब, हरियाणा-चंडीगढ़-दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, पूर्वी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल ,तेलंगाना व ओडिशा के कुछ हिस्से जूझ रहे हैं। विभाग के अनुसार, मध्य और उत्तर पश्चिम भारत में अगले पांच दिनों तक गर्म हवाओं का चलना जारी रहेगा वहीं देश के पूर्वी हिस्से में भी यह तपन अगले तीनों तक तड़पाएगी। देश के पूर्वोत्तर में बरसेंगी फुहारें मौसम विभाग की ओर से जारी पूर्वानुमान में यह भी बताया गया है कि नार्थ ईस्ट में बादल की गरज के साथ बारिश भी हो सकती है। जहां तक पंजाब, हरियाणा-चंडीगढ़-दिल्ली, उत्तर प्रदेश और राजस्थान की बात है तो यहां 30 अप्रैल को धूल भरी आंधी चलने की पूरी संभावना है। अरुणाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में 30 अप्रैल को बारिश की पूरी संभावना है और असम व मेघालय में भी 30 अप्रैल से 2 मई तक बारिश हो सकती है।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp