छात्र द्वारा ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या करने के मामले में दो जनों को पुलिस ने दबोचा - Khulasa Online

छात्र द्वारा ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या करने के मामले में दो जनों को पुलिस ने दबोचा

बीकानेर,स्वामी केशवानंद कृषि विश्वविद्यालय के छात्र की ओर से करीब सवा महीने पहले ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या करने के मामले में बीछवाल पुलिस ने इसी विश्वविद्यालय के दो छात्रों को गिरफ्तार किया है। बीछवाल एसएचओ मनोज शर्मा ने बताया कि नागौर के बडू गांव हाल एसकेआरयू बीएससी तृतीय वर्ष के छात्र रविन्द्र फरडोदा (21) पुत्र राजूराम जाट एवं डेगाना के रावतसर खूडी कलां हाल •एसकेआरयू बीएससी तृतीय वर्ष के छात्र गगन अजीतसिंह (20) पुत्र बलदेवराम जाट को शनिवार को गिरफ्तार किया गया है। दोनों आरोपियों को इनके गांव से दस्तयाब किया गया था। आरोपियों को रविवार को न्यायालय में पेश किया,जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। गौरतलब है कि स्वामी केशवानंद कृषि विश्वविद्यालय में नागौर के चिताबा के करकेड़ी निवासी प्रदीप कुमार (20) बीएससी चतुर्थ वर्ष में अध्ययरनरत था। यह छात्र ने 23 अक्टूबर की सुबह ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। इस संबंध में मृतक के भाई रणजीत मेघवाल ने बीछवाल थाने में रविन्द्र फरडोदा, गगन अजीतसिंह, राजकुमार बिजारणिया तथा शिवपाल जाट के खिलाफ आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने के आरोप में मामला दर्ज कराया था। सोशल मीडिया पर लगाया स्टेट्स मृतक प्रदीप ने आत्महत्या करने से सोशल मीडिया पर स्टेट्स भी लगाया था, जिसमें उसने लिखा था कि मैं मरने जा रहा हूं। गुरुवार सुबह कृषि विश्वविद्यालय के पीछे से गुजरने वाली ट्रेन की पटरियों पर शव पड़ा मिला । नागौर के चितावा पुलिस थाना क्षेत्र के करकेडी निवासी प्रदीप कुमार इसी विश्वविद्यालय की प्रथम ईयर की एक छात्रा से बातचीत करता था। प्रदीप के साथ रहने वाले रविन्द्र, गगन अजीत सिंह, राजकुमार, शिशपाल को प्रदीप का उस छात्रा से बात करना पसंद नहीं था। इस बात को लेकर चारों ने प्रदीप के साथ मारपीट भी की थी। प्रदीप ने आत्महत्या करने से एक महीने पहले अपने परिजनों को आपबीती बताई थी। उक्त मामले की शिकायत कॉलेज प्रशासन को की तब कॉलेज प्रशासन ने चार हजार का जुर्माना लगाकर इतिश्री कर ली (लेकिन पुलिस को सूचना नहीं दी।15 सितंबर को प्रदीप को कॉलेज बुलाकर•उक्त लड़की ने सबके सामने कहा कि वह बात करना नहीं चाहती। इस पर प्रदीप ने सुसाइड करने की कोशिश की थी। ट्रक के आगे कूदने की कोशिश की लेकिन वह एक बार बच गया। प्रदीप उक्त सभी लोगों से तंग था। आखिरकार वह मानसिक तनाव में आकर आत्महत्या की।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp