निजी स्कूलों के डेढ़ लाख विद्यार्थी संकल्प पत्रों के माध्यम से अभिभावकों को करेंगे मतदान के लिए प्रेरित - Khulasa Online निजी स्कूलों के डेढ़ लाख विद्यार्थी संकल्प पत्रों के माध्यम से अभिभावकों को करेंगे मतदान के लिए प्रेरित - Khulasa Online

निजी स्कूलों के डेढ़ लाख विद्यार्थी संकल्प पत्रों के माध्यम से अभिभावकों को करेंगे मतदान के लिए प्रेरित

बीकानेर। जिले के निजी विद्यालयों के डेढ़ लाख विद्यार्थी संकल्प पत्रों के माध्यम से अपने अभिभावकों को मतदान के लिए प्रेरित करेंगे। पूर्व में राजकीय स्कूलों के डेढ़ लाख विद्यार्थी यह संकल्प पत्र भरवा चुके हैं।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने स्वीप से जुड़ी गतिविधियों की मॉनिटरिंग की और निर्वाचन तक इनमें और अधिक गति लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निर्वाचन तक प्रत्येक मतदाता तक पहुंचा जा सके, इसके मद्देनजर बूथ स्तर तक जागरूकता गतिविधियों की कार्ययोजना बनाई जाए। पिछले विधानसभा चुनाव में प्रत्येक विधानसभा के न्यूनतम मतदान वाले बीस-बीस केंद्रों के लिए विशेष स्वीप प्लान तैयार किया जाए तथा इसके अनुसार गतिविधियां हों। समस्त निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी, समर्पित एईआरओ तथा 21 विभागों के अधिकारी जिला स्तरीय अधिकारी पूरे अभियान की मॉनिटरिंग करें और निर्वाचन विभाग को आवश्यक सूचनाएं समय पर भिजवाई जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने महिलाओं, वृद्धजनों और दिव्यांग मतदाताओं तक जागरूकता के मद्देनजर पहुंच बनाने के निर्देश दिए।
सरकारी स्कूलों के डेढ़ लाख विद्यार्थी पूर्व में भरवा चुके संकल्प पत्र
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि पूर्व में जिले के राजकीय विद्यालयों के डेढ़ लाख विद्यार्थियों ने संकल्प पत्रों के माध्यम से अपने अभिभावकों को मतदान के लिए प्रेरित किया। अब निजी स्कूलों के डेढ़ लाख विद्यार्थियों द्वारा भी यह संकल्प पत्र भरवाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जल्दी ही यह संकल्प पत्र प्रकाशित करवाते हुए निजी स्कूलों को भिजवाए जाए। इसके लिए जल्दी ही बैठक बुलाने के निर्देश दिए।
मतदाता जागरूकता वॉल की समीक्षा की
जिला निर्वाचन अधिकारी ने जिले के स्कूलों, कॉलेजों, थानों और सरकारी कार्यालयों सहित कुल 600 स्थानों पर स्थापित मतदाता जागरूकता वॉल की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जिले के इस नवाचार का प्रभावी क्रियान्वयन किया जाए। विद्यार्थियों को इस वॉल पर मतदान से जुड़े पोस्टर, बैनर और स्लोगन चस्पा करने के लिए प्रेरित किया जाए। साथ ही समय-समय पर इन्हें बदला जाए, जिससे आमजन को मतदान से जुड़ी जानकारी ज्ञानवर्धक तरीके से मिलती रहे।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp 26