14 दिसंबर तक ही हो सकेंगे शादी-ब्याह फिर धनु संक्रांति के साथ लगेगा मलमास

मार्गशीर्ष मास शुरू हो गया है। इस साल के वैवाहिक सावों का यह अंतिम सीजन हैं जो आगामी 24 दिन ही चलेगा। यानी इस साल का आखिरी सावा 14 दिसंबर का रहेगा। इसके बाद धनु संक्रांति के चलते मलमास शुरू हो जाएगा, जो मकर संक्रांति यानी अगले साल 14 जनवरी तक रहेगा।

जबकि मार्गशीर्ष महीना जो 19 दिसंबर तक चलेगा। इस पूरे महीने में काल भैरव जयंती, सूर्य ग्रहण, विवाह पंचमी, दत्तात्रेय जयंती व धनु संक्रांति समेत कुल 16 विशेष नक्षत्र व भगवत आराधना के दिन रहेंगे। जिसमें भगवान श्रीकृष्ण के स्वरूप की वंदना होगी।

बंशीधर जयपुर पंचांग के ज्योतिषाचार्य ने बताया कि शनिवार से मार्गशीर्ष मास का आरंभ होगा, यह हिंदू वर्ष का 9वां महीना है, प्रत्येक चंद्रमास का नाम उसके नक्षत्र के आधार पर रखा जाता है। मार्गशीर्ष माह में मृगशिरा नक्षत्र होता है। इसलिए इसे मार्गशीर्ष कहा जाता है। आम बोलचाल की भाषा में इसे अगहन मास के नाम से भी जाना जाता है। इस माह में भगवान कृष्ण की उपासना करने का विशेष महत्व माना गया है।  कुण्डली विश्लेषक अनीष व्यास ने बताया कि मार्गशीर्ष मास भगवान श्रीकृष्ण को अत्यंत प्रिय है। भक्तवत्सल भगवान ने स्वयं अपनी वाणी से कहा है कि मार्गशीर्ष मास स्वयं मेरा ही स्वरूप है।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp