लता मंगेशकर आईसीयू ऑब्जर्वेशन में, डॉक्टर ने कहा रिकवर के लिए दुआ करें - Khulasa Online

लता मंगेशकर आईसीयू ऑब्जर्वेशन में, डॉक्टर ने कहा रिकवर के लिए दुआ करें

नईदिल्ली. स्वर कोकिला लता मंगेशकर कोरोना से संक्रमित होने के बाद इन दिनों मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में आईसीयू में भर्ती हैं। शनिवार को अस्पताल में लता मंगेशकर का इलाज कर रहे डॉक्टर प्रतीत समधानी ने बताया कि वे अभी भी आईसीयू में ऑब्जर्वेशन में हैं। उन्होंने कहा कि हमें इंतजार करना होगा, वे कुछ दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहेंगी। साथ ही डॉ. प्रतीत ने लता मंगेशकर के फैंस से उनके जल्द से जल्द रिकवर होने के लिए दुआ करने की अपील भी की। 92 साल की लता मंगेशकर को कोरोना और निमोनिया के चलते पिछले हफ्ते अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें कोरोना के हल्के लक्षण भी थे। कोरोना के साथ-साथ निमोनिया से भी पीड़ित हैं लता मंगेशकर इससे पहले गुरुवार को दिए एक स्टेटमेंट में प्रतीत समधानी ने कहा था, सिंगर लता मंगेशकर अभी भी आईसीयू वार्ड में ही भर्ती हैं, लेकिन उनके स्वास्थ्य में अब थोड़ा सुधार हुआ है। लता दीदी के लिए सबसे अच्छे डॉक्टर्स की टीम तैयार की गई है। भले ही वे ठीक हो रही हैं, लेकिन उनके परिवार वालों को उनसे मिलने नहीं दिया जा रहा है। वे कोरोना के साथ-साथ निमोनिया से भी पीड़ित हैं। इसलिए अभी उन्हें 10 से 12 दिनों तक आईसीयू में ही रखा जाएगा। पिछले कुछ साल से प्रतीत समधानी ही कर रहे हैं उनका इलाज डॉक्टर प्रतीत समधानी ही पिछले कुछ साल से लता मंगेशकर का इलाज कर रहे हैं। स्वर कोकिला को 2 साल पहले नवंबर 2019 में भी सांस लेने में तकलीफ और निमोनिया होने के कारण अस्पताल में भर्ती किया गया था। तब वे 28 दिन तक अस्पताल में भर्ती रही थीं। परिवार को भरोसा- कोरोना से जीतकर जल्द ही घर वापस आ जाएंगी इससे पहले लता मंगेशकर की भतीजी रचना शाह ने बताया था कि उनकी कंडीशन अभी स्टेबल है और वे रिकवर कर रही हैं। अधिक उम्र के कारण उन्हें कई समस्याएं हैं। ऐसे में डॉक्टर उनका खास ख्याल रख रहे हैं। वे अगले कुछ दिन और हॉस्पिटल में ही भर्ती रहेंगी। वे एक फाइटर और विजेता हैं। मैं देशभर के उन सभी प्रशंसकों को धन्यवाद देना चाहती हूं, जिन्होंने उन्हें प्रार्थनाओं में रखा है। जब हर कोई प्रार्थना करता है तो कुछ भी गलत नहीं हो सकता। हमें पूरी उम्मीद है कि वे कोरोना से जीतकर जल्द ही घर वापस आ जाएंगी। लता मंगेशकर को घर के स्टाफ मेंबर के कारण हुआ कोरोना लता मंगेशकर के म्यूजिक लेबल एलएम म्यूजिक के सीईओ मयुरेश पई ने बताया था कि घर में काम करने वाले स्टाफ मेंबर्स सामान लेने बाहर आते-जाते रहते हैं। उनमें से ही एक स्टाफ मेंबर संक्रमित हो गया था। लता दीदी उसके संपर्क में आई थीं, इसलिए उनका कोविड टेस्ट कराया गया था, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। मयुरेश पई ने आगे बताया था कि लता दीदी के परिवार में उनकी बहन उषा मंगेशकर और भाई हृदयनाथ मंगेशकर समेत किसी भी सदस्य को कोरोना नहीं हुआ है। लता मुंबई के पैडर रोड स्थित अपने घर में फैमिली के साथ रहती हैं। वे 2019 के बाद से घर से निकली नहीं हैं। किसी से मिलती-जुलती भी नहीं हैं। लता मंगेशकर को 2001 में भारत रत्न से नवाजा गया था भारतीय सिनेमा के सबसे महान गायकों में से एक लता मंगेशकर ने 1942 में 13 साल की उम्र में अपने करियर की शुरुआत की थी। उन्हें संगीत की दुनिया में 80 साल हो चुके हैं। उन्होंने अपने करियर के दौरान कई भारतीय भाषाओं में 30,000 से ज्यादा गाने गाए हैं। अपने 7 दशक से अधिक के करियर में उन्होंने अजीब दास्तां है ये, प्यार किया तो डरना क्या, नीला आसमान सो गया' और तेरे लिए जैसे कई यादगार गाने गाए हैं। भारत की कोकिला के रूप में जानी जाने वाली गायिका को पद्म भूषण, पद्म विभूषण, दादा साहब फाल्के अवॉर्ड, कई राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों सहित कई पुरस्कारों और सम्मानों से नवाजा गया है। संगीत में उनके योगदान को देखते हुए 2001 में भारत सरकार ने उन्हें सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया था।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp