राजस्थान में दो दिनों में होगी 22 हजार शादियां करीब 2500 करोड़ का होगा कारोबार, आखातीज पर हंस राजयोग - Khulasa Online

राजस्थान में दो दिनों में होगी 22 हजार शादियां करीब 2500 करोड़ का होगा कारोबार, आखातीज पर हंस राजयोग

जयपुर। राजस्थान में आज और कल शादियों की धूम रहेगी। 2 मई और 3 मई शादी के बड़े सावे हैं। 3 मई को आखातीज (अक्षय तृतीया) है। इस दिन अबूझ मुहूर्त है, जो हंस राजयोग है। एक ही दिन में करीब 15 हजार शादियां राजस्थान में होंगी। अकेले जयपुर जिले में ही 3000 शादियां होने का अनुमान है। कोरोना की पाबंदियां हटने के बाद शादियों का यह सबसे बड़ा दिन है। दो दिन में करीब 22 हजार शादियां प्रदेश में होंगी। आखातीज के मौके पर राजस्थान में करीब 2500 करोड़ रुपए के कारोबार की उम्मीद है। माना जा रहा है कि इस बार बाजार में अब तक के खरीदारी के सभी रिकॉर्ड टूट जाएंगे। गहने, वाहन, गारमेंट एंड शू, इलेक्ट्रॉनिक्स, फर्नीचर, कैटरिंग और हलवाई, टेंट और डेकोरेशन, इवेंट, आर्ट एंड हैंडीक्राफ्ट्स, गिफ्ट्स, फूलों का बड़ा कारोबार होगा। टेंट और केटरिंग का 1000 करोड़ रुपए का होगा कारोबार ऑल इंडिया ट्रेंड डेकोरेटर्स वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष रवि जिन्दल ने बताया कि आखा तीज पर राजस्थान में करीब 15 हजार शादियां होंगी। इसमें केवल टेंट, सजावट, लाइटिंग, जनरेटर, डीजे साउंड, कैटरिंग-हलवाई का 1000 करोड़ रुपए का कारोबार होने जा रहा है। जयपुर जिले में ही 3 हजार शादियां होंगी। आखातीज पर गांवों में ज्यादा शादियां परम्परा के अनुसार होती थीं। अबकी बार कोविड पीरियड के 2 साल बाद अबूझ सावे पर ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में बड़े लेवल पर शादियां हो रही हैं। 500 करोड़ का ज्वैलरी और बर्तन कारोबार जयपुर ज्वैलर्स एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष संजय काला का कहना है कि राजस्थान में सोने-चांदी और बर्तन का कारोबार करीब 500 करोड़ रुपए पहुंचने का अनुमान है। इसमें 450 करोड़ रुपए की ज्वैलरी और 50 करोड़ के बर्तन शामिल हैं। शादी की ज्वैलरी में अंगूठी,चेन, हार, टीका, सेट, मंगलसूत्र, पायजेब, बिछिया, चूडियां और कंगन, कड़े, ब्रासलेट का चलन ज्यादा है। 300 से 350 करोड़ के वाहन बिकेंगे राजस्थान ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष गिरधारी लाल खंडेलवाल ने दैनिक भास्कर से बातचीत में कहा कि आखातीज पर राजस्थान में 300 से 350 करोड़ का कारोबार होगा। अक्षय तृतीया पर ग्रामीण इलाके में सबसे ज्यादा शादियां होती हैं। राजस्थान के गांवों में हर परिवार में शादी में वाहन देने की परम्परा है। चाहे वह मोटरसाइकिल हो, कार हो या ट्रैक्टर हो। कोरोना महामारी के बुरे दौर के बाद अब खुशियों के पल आए हैं। हर आदमी खुलकर फंक्शन करना चाह रहा है। खर्चा भी कर रहा है। शहरी इलाकों में भी बड़े लेवल पर अबूझ सावे में शादियां होने जा रही हैं। जिसमें गिफ्ट देने के लिए वाहनों की एडवांस बुकिंग भी करवाई गई है। 100 करोड़ का इलेक्ट्रॉनिक्स कारोबार होगा राजस्थान इलेक्ट्रॉनिक्स ट्रेडर्स एसोसिएशन अध्यक्ष सुरेश कुमार कालानी का कहना है कि आखातीज के अवसर पर राजस्थान में 100 करोड़ रुपए का इलेक्ट्रॉनिक्स का कारोबार होगा। बहुत समय बाद खुलकर शादियां हो रही हैं। कोरोना काल जो गैप रह गया। उसे पूरा करने की कोशिश दिखाई पड़ रही है। इस कारण अब शादियों की संख्या बढ़ गई है। लोग इलेक्ट्रॉनिक्स और होम अप्लाइंसेस शादियों की बड़ी जरूरत हैं। वाशिंग मशीन, एसी, फ्रिज, माइक्रोवेव ओवन, प्रेस, म्युजिक सिस्टम, स्मार्ट फोन, घडिय़ां और रिस्ट वॉच तो शादियों के लिए खरीदे ही जा रहे हैं। कोविड महामारी के बाद आटा चक्की का भी अच्छा मार्केट बना है। 100 करोड़ का फर्नीचर लगेगा डबल बेड, सोफा सेट, डायनिंग टेबल, ड्रेसिंग टेबल, सेंट्रल टेबल, ट्रंक, अलमारी जैसे बेसिक फर्नीचर को लेकर चलें तो करीब 100 करोड़ रुपए का फर्नीचर शादियों में दिया जाएगा। 200 करोड़ की गारमेंट्स और शूज बिक्री प्रदेशभर में आखातीज पर करीब 200 करोड़ रुपए गारमेंट और ड्रेस पर खर्च होने का अनुमान है। दूल्हा-दुल्हन, उनके परिजनों, रिश्तेदारों और फेंड्स सर्कल की ड्रेसेज, सूट, लहंगा, शेरवानी, कुर्ते-पायजामे, साफे, स्पेशल ऑकेशन ड्रेसेज, पार्टी वियर, लिंजरी, शूज वगैरह पर करीब 200 करोड़ रुपए तक की बिक्री का अनुमान है। टूर एंड ट्रेवल्स पर 100 करोड़ का खर्चा शादी में आने-जाने के लिए ट्रेवल, घूमने-फिरने, वैडिंग के बाद हनीमून पैकेज और डॉमेस्टिक एंड फॉरेन टूर पर करीब 100 करोड़ रुपए तक खर्च होंगे। सजने-संवरने और ब्यूटी पर 50 करोड़ तक होंगे खर्च शादी के लिए ग्रूमिंग और ब्यूटी पार्लर पर 50 करोड़ रुपए तक खर्च होने का अनुमान है। शहरों में ही नहीं ग्रामीण और कस्बाई क्षेत्रों में भी पार्लर जाकर सजने का प्रचलन तेजी से बढ़ा है। 50 करोड़ के गिफ्ट्स और हैंडी क्राफ्ट्स दिए जाएंगे शादियों में करीब 50 करोड़ रुपए गिफ्ट्स, हैंडी क्राफ्ट्स आईटम और अलग-अलग तरह के उपहारों पर खर्च होने का अनुमान वैडिंग इंडस्ट्री एक्सपट्र्स लगाते हैं। स्वयंसिद्ध अबूझ मुहूर्त पर जमकर होगी खरीदारी ज्योतिष परिषद एवं शोध संस्थान,जयपुर के अध्यक्ष पंडित पुरुषोत्तम गौड़ ने बताया कि 3 मई को आखातीज का स्वयंसिद्ध अभिजीत अबूझ मुहूर्त है। 50 साल बाद 2 ग्रह उच्च राशि में होंगे,जबकि 2 प्रमुख ग्रह स्वराशि में होंगे। गुरू के स्वराशि मीन में होने से 'हंस राजयोग' बन रहा है। शुक्र के अपनी स्वराशि में होने से 'मालव्य' नाम का राजयोग बनेगा। शनि के स्वराशि में होने से 'शश' नाम का राजयोग बनेगा और सूर्य-चन्द्रमा भी इस दिन अपनी उच्च राशि में विराजमान रहेंगे। इस दिन शुभ,मंगल कार्य और दान करना विशेष फलदायी रहेंगे। रोहिणी नक्षत्र के शोभन योग में आखा तीज मनाई जाएगी। वृषभ राशि का चन्द्रमा भी रहेगा। रोहिणी नक्षत्र होने से मंगल रोहिणी योग का भई निर्माण होगा। शोभन योग में अक्षय तृतीया 30 साल बाद आई है। मई महीने में 15 दिन सावे हैं। आधा महीना शादियों में ही गुजरने वाला है। 2, 3 तारीख के बाद 9, 10, 11, 12, 15, 17, 18, 19, 20, 21, 26, 27 और 31 तारीख को शादी के मुहूर्त हैं। सूर्य,चन्द्रमा और ब्रहस्पति तीनों श्रेष्ठ स्थान पर होने से मुहूर्त की तिथियां ज्यादा निकली हैं। कई सालों बाद कई ऐसे मुहूर्त आए हैं कि जिन लडक़े-लड़कियों की शादियां रुकी हुई थीं। अब उनकी भी शादियां हो रही हैं। इस दिन कोई भी काम करते हैं तो स्थाई फल देने वाला होता है। गाड़ी,कपड़े,बर्तन,जेवर सभी अक्षय तृतीया को खरीदना शुभ होता है। इसलिए इस दिन जमकर खरीदारी होगी। पूजा के शुभ मुहूर्त सुबह 5.39 से दोपहर 12.18 बजे तक हैं। सोना-चांदी खरीदने और शॉपिंग के लिए शुभ मुहूर्त सुबह 5.39 बजे से 4 मई की सुबह 5.38 बजे तक रहेगा।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp