नहर मे कटाव आने से भारी नुकसान, कटी हुई फसल पानी मे बही - Khulasa Online

नहर मे कटाव आने से भारी नुकसान, कटी हुई फसल पानी मे बही

श्रीगंगानगर।सिंचाई विभाग व सफाई ठेकेदार की मिलीभगत के कारण  खिनानिया वितरिका नहर टूटने से क्षेत्र में भारी नुकसान हुआ है। अक्टूबर 2021 में फेफाना से रतनपुरा हेड तक 11 किमी नहर की सफाई करवाई गई थी। ठेकेदार ने उच्चधिकारियों से मिलीभगत कर मजदूरों की बजाए जेसीबी से सफाई करवाकर जगह-जगह से नहर की लाइनिंग उखाड़ी थी।

चक 9-केएनएन के किसान इंद्राज सहू के खेत में दक्षिण दिशा में टूटी लाइनिंग से पानी का रिसाव हाेने लगा और सुबह 9 बजे नहर टूट गई। सूचना मिलने पर सरपंच जिंद्रपाल गोदारा (रतनपुरा) व अध्यक्ष लादूराम डूडी मौके पर पहुंच किसान मोहनलाल भामू के साथ मिलकर नहर बांधने के कार्य के लिए संसाधनों जुटाए। उधर, विभाग ने खिनानिया वितरिका में पानी बंद करवा दिया। हरियाणा से पानी कम करवाकर शेष जसाना वितरिका सहित माइनरों में छोड़ दिया। टूटने के समय नहर में 170-180 क्यूसेक पानी चल रहा था।

इसलिए तेज बहाव के कारण साढ़े दस बजे तक कटाव 30 फुट हो गया। खेतों में पानी के तेज प्रवाह से कटी हुई जौ व सरसों की फसल बह गई, 15 टयूबवैल ध्वस्त हो गए। किसान लिछमण मेहरा के खेत का कच्चा कुआं व शौचालय ढह गया। साढ़े बारह बजे तक करीब 150 बीघा खेत जलमग्न हो गए।

सुबह दस बजे सरपंच जिंद्रपाल गोदारा ने रतनपुरा की तरफ से वापस आ रहे पानी के लिए नहर में बंधा लगवाया। करीब साढ़े दस बजे पहुंचे नाेहर पंचायत समिति प्रधान सोहन ढिल ने दो जेसीबी ओर दो ट्रैक्टर-ट्राली की मदद से कटाव से पीछे नहर में बंधा लगवाना शुरू किया।

लेकिन तेज बहाव के कारण बंधा नहीं लगा। फिर नहर में पेड़ों की टहनियां डलवाकर अवराेध पैदा किया और मिट्टी के थैले लगाकर साढ़े बारह बजे फेफाना की तरफ से आ रहे पानी को बंद किया। साढ़े बारह के बाद ट्रैक्टर व जेसीबी से कटाव को दुरुस्त करने का कार्य शुरू किया। नाेहर विधायक अमित चाचाण व एसडीएम श्वेता कोचर ने भी मुआयना किया। देर शाम समाचार लिखे जाने तक कार्य चल रहा था। शनिवार शाम तक कार्य पूरा होने की संभावना है।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp