शहर के पूर्व सभापति का निधन, दौड़ी शोक की लहर - Khulasa Online

शहर के पूर्व सभापति का निधन, दौड़ी शोक की लहर

श्रीगंगानगर। नगर परिषद के पूर्व सभापति जगदीश जांदू का रविवार आधी रात के बाद निधन हो गया। वे साठ वर्ष के थे। जांदू के निकटस्थ सूत्रों ने बताया कि रविवार को आधी रात को तबीयत बिगडऩे के बाद उन्हें प्राइवेट अस्पताल में भर्ती करवाया गया। वहां देर रात उन्होंने अंतिम सांस ली। उनका अंतिम संस्कार सोमवार दोपहर 12 बजे पदमपुर रोड स्थित कल्याण भूमि में होगा। जांदू की पार्थिव देह उनके जवाहर नगर स्थित आवास पर अंतिम दर्शन के लिए रखी गई। सुबह जानकारी मिलने के साथ ही बड़ी संख्या में लोग अंतिम दर्शन के लिए उनके आवास पर पहुंचना शुरू हो गए। छात्र राजनीति से सक्रिय राजनीति तक का सफर जांदू छात्र राजनीति से सक्रिय राजनीति तक पहुंचे। जांदू ने युवक कांग्रेस से शुरुआत की और बाद में जिला कांग्रेस के पदों से होते हुए श्रीगंगानगर नगर परिषद के सभापति पद पर पहुंचे। वर्ष 1999 में हुए श्रीगंगानगर परिषद के चुनाव में नए चेहरे के तौर पर सामने आए और पहली बार नगर परिषद के सभापति चुने गए। उन्होंने 28 नवम्बर1999 को नगर परिषद सभापति के रूप में शपथ ली। वे वर्ष 2004 तक पहली बार नगर परिषद के सभापति रहे। कृषि और आढत जैसे व्यवसायों से जुड़े जांदू बाद में कांग्रेस से सक्रियता से जुड़े रहे। वर्ष 2009 में राज्य सरकार ने सीधे जनता से मतदान के माध्यम से चुनाव की घोषणा की तो जांदू ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर ताल ठोकी और 26 नवम्बर 2009 को एक बार फिर नगर परिषद सभापति चुने गए। इस चुनाव में जांदू की जीत ने उन्हें शहर की राजनीति में महत्वपूर्ण स्थान दिलाया। इसी जीत के बाद वर्ष 2013 में वे कांग्रेस प्रत्याशी तौर पर श्रीगंगानगर से चुनाव लड़े लेकिन पराजित हुए।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp