दीपोत्सव के 5 दिन नो शटडाउन,नो पावर कट ऊर्जा मंत्री खुद कर रहे मॉनिटरिंग - Khulasa Online

दीपोत्सव के 5 दिन नो शटडाउन,नो पावर कट ऊर्जा मंत्री खुद कर रहे मॉनिटरिंग

जयपुर। दीपावली के त्योहार पर प्रदेशभर में रोशनी की सजावट हो गई है। लेकिन बिजली विभाग के लिए सबसे बड़ी चुनौती दिवाली के त्योहार पर बिजली की राउंड द क्लॉक 24 घंटे बिना रुकावट के सप्लाई देना है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देशों के बाद ऊर्जा विभाग के मंत्री डॉ बीडी कल्ला ने विभाग के एसीएस और बिजली डिस्कॉम्स,उत्पादन निगम के सीएमडी,एमडी लेवल के अधिकारियों को इस काम में कोई कोताही नहीं बरतने के निर्देश दिए हैं।मंत्री खुद इसकी मॉनिटरिंग कर रहे हैं। दीपोत्सव के 5 दिन के त्योहार पर 2 नवम्बर को धनतेरस, 3 नवम्बर को छोटी दिवाली यानी रूप चौदस, 4 नवम्बर को दिवाली, 5 नवम्बर को गोवर्धन पूजा, 6 नवम्बर को भाईदूज को किसी तरह की बिजली कटौती नहीं करने, नो शटडाउन और नो पावर कट के निर्देश दिए गए हैं। ऊर्जा मंत्री डॉ बीडी कल्ला ने बिजली विभाग और वितरण निगमों,डिस्कॉम्स को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि इस बात का ख़ास ध्यान रखा जाए कि बिजली की कमी के कारण कहीं भी कटौती नहीं होनी चाहिए। इसके अलावा दिवाली पर 24 घंटे विशेष टीमें तीनों विद्युत कम्पनियों जयपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड,जोधपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड और अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड की अलर्ट मोड पर तैनात रखें। जरूरत के हिसाब से एक्सट्रा बिजली एक्सचेंज से खरीदी जाए सीएम के निर्देश के बाद ऊर्जा मंत्री ने एसीएस एनर्जी,डिस्कॉम्स एमडी, बिजली कंपनियों के एमडी और उत्पादन निगम के सीएमडी के साथ बिजली के मौजूदा हालातों को रिव्यू किया है। ऊर्जा मंत्री ने निर्देश दिए हैं कि डिमांड के हिसाब से एक्सट्रा जितनी जरूरत पड़े उतनी बिजली एक्सचेंज से खरीदी जाए। बिजली की डिमांड और उपलब्धता का डेली बेसिस पर आकलन किया जाए। साथ ही सप्लाई की व्यवस्थाओं को दुरुस्त रखा जाए। तीनों बिजली कम्पनियों ने कंट्रोल रूम,कॉल सेंटर,टेक्नीकल स्टाफ की टीमें की तैनात तीनों बिजली कंपनियों ने आदेश जारी कर 3 से 5 नवम्बर तक के लिए दिवाली पर विशेष ऑर्डर निकाले हैं। जिसमें विद्युत वितरण निगमों के एमडी ने सभी जोनल चीफ इंजीनियर्स और सर्किल सुप्रीटेंडेंट इंजीनियर्स को राउंड द क्लॉक जोनल और सर्किल कंट्रोल रूम चलाने के आदेश दिए हैं। साथ ही सुप्रीटेंडेंट इंजीनियरों को अपने अंडर आने वाले स्टाफ की स्पेशल ड्यूटी लगाने और जरूरत के मुताबिक अलग-अलग लोकेशन पर उनकी तैनातगी के निर्देश दिए गए हैं। डिमांड और सप्लाई की रियल टाइम मॉनिटरिंग होगी जेवीवीएनएल के आदेश में फॉल्ट रिमूवल टीमों में पर्याप्त संख्या में कर्मचारियों की ड्यूटी लगाने, टूल्स एंड प्लांट, बिजली लाइन और फॉल्ट सुधार से जुड़ी सामग्री, वाहनों के साथ टीमों को फील्ड में अलर्ट रखने के आदेश हैं। साथ ही मीटरिंग एंड प्रोटेक्शन विंग और सतर्कता विंग को भी तैनात रखते। एक एईएन या जेईएन की सेंट्रलाइज्ड कॉल सेंटर में ड्यूटी लगाने को कहा गया है।बिजली संबंधी रजिस्टर्ड शिकायतों के तुरंत समाधान के लिए 24 घंटे मॉनिटरिंग की जाएगी। बिजली की डिमांड और सप्लाई के रियल टाइम स्टेटस की मॉनिटरिंग की जाएगी।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp