पूर्व कप्तान दानवीर सिंह भाटी, सार्दुल स्पोट्र्स स्कूल की दशा सुधारने की मांग को लेकर मुख्य सचिव से मिले

जयपुर। राजस्थान की एकमात्र आवासीय खेल विद्यालय सादुल स्पोट्र्स स्कूल बीकानेर में व्याप्त अव्यवस्थाओं के खिलाफ बास्केटबॉल के राष्ट्रीय खिलाड़ी दानवीर सिंह भाटी ने मंगलवार को राज्य के मुख्य सचिव निरंजन आर्य से मुलाकात की. भाटी ने मुख्य सचिव निरंजन आर्य से सादर स्पोट्र्स स्कूल की दशा सुधारने की मांग को लेकर एक ज्ञापन भी सौंपा. भाटी ने बताया कि सादुल स्पोट्र्स स्कूल राजस्थान की एकमात्र आवासीय खेल विद्यालय है जो आज भयंकर दुर्दशा का शिकार है इसको लेकर हम पिछले ढाई साल से लगातार संघर्ष कर रहे हैं इस संदर्भ में हमने 2 बार राज्य के शिक्षा मंत्री, तीन बार शिक्षा निदेशक को भी ज्ञापन देकर स्थिति से अवगत करा चुके हैं एक बार बीकानेर पूर्व की विधायक सिद्धि कुमारी व बीकानेर के जिला कलेक्टर का दौरा भी सादुल स्पोर्टस स्कूल में करा चुके हैं , भाटी ने बताया कि जब हमने मुख्य सचिव निरंजन आर्य साहब को बताया कि 40 साल से आवासीय विद्यालय होने के बावजूद स्कूल में खाना बनाने के लिए कुक की पोस्ट तक नहीं है और शिक्षा विभाग द्वारा निर्धारित एनआईएस डिप्लोमाधारी कोच के स्थान पर बिना एनआईएस डिप्लोमाधारी अयोग्य व्यक्तियो को लगा रखा है तो वे बड़े ही अचंभित हुए, उनको खिलाडिय़ों की डाइट मनी व किट मनी के बारे में भी बताया साथ ही वर्षों से बंद पड़ी डिस्पेंसरी व स्विमिंग पूल तथा जर्जर हालत में छात्रावास के कमरे तथा शौचालयों की भारी कमी तथा पूरे कैंपस के अंदर एक भी आरो वाला वाटर कूलर न होना खिलाडिय़ों के साथ बहुत बडा दुव्र्यवहार हैं तथा 12 खेलों में उपकरण राशि भी प्रति वर्ष मात्र ₹100000 है ऐसी स्थिति में कैसे हम खेल जगत मे अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश की साख जमाने की बात करें करते हैं इस पर मुख्य सचिव ने कहा कि वह सादुल स्पोट्र्स स्कूल की इन अव्यवस्थाओं में सुधार के लिए जल्द ही आवश्यक कार्रवाई अमल में लाएंगे. इसे लेकर उन्होंने माध्यमिक शिक्षा निदेशक कानाराम से दूरभाष पर बातचीत कर राजकीय सादुल स्पोट्र्स स्कूल के बारे में आवश्यक रिपोर्ट भी मांगी है.

error: Content is protected !!