बीकानेर सं./ SHO के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज, एडवोकेट ने दर्ज करवाया मामला - Khulasa Online

बीकानेर सं./ SHO के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज, एडवोकेट ने दर्ज करवाया मामला

श्रीगंगानगर जिले के घड़साना में सोमवार को एसएचओ और कई पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। इलाके में नशे के खिलाफ अभियान चलाने वाले एडवोकेट विजय सिंह झोरड़ ने इस्तगासे के जरिए यह मामला दर्ज करवाया है। इसमें आरोप लगाया गया है कि इलाके में चल रहे नशा विरोधी आंदोलन को रोकने के लिए दबाव बनाने के उद्देश्य से एसएचओ और पुलिसकर्मियों ने उन्हें और उनके साथियों को थाने में ले जाकर पीटा। इस्तगासे में कहा गया कि पुलिसकर्मियों ने पहले उन पर आंदोलन बंद करने के लिए दबाव बनाया और जब वे नहीं माने तो उनकी पिटाई की गई। मामले में एसएचओ मदनलाल बिश्नोई और पुलिसकर्मियों को आरोपी बनाया गया है।

ये लगाए आरोप इस्तगासे में एडवोकेट विजय सिंह झोरड़ ने आरोप लगाया कि वह 31 मार्च से इलाके में नशे के खिलाफ आंदोलन चला रहे हैं। 18 अप्रैल की रात उसे सूचना मिली कि चक तीन एसटीआर के दो युवकों को स्मैक पीते हुए पकड़कर थाने लाया गया। पुलिस उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही। इस पर एडवोकेट झोरड़ को मौके पर बुलाया गया। झोरड़ इस संबंध में थाने के सामने डिवाइडर पर बैठकर आंदोलनकारियों से मामले की जानकारी ले रहे थे। इसी दौरान थाने से एएसआई कमल मीणा, सिपाही जगमोहन आए तथा उसके पास बैठे सावन खान, नरेश, रवि स्वामी, राहुल नायक, बलजीत सिंह मजहबी, गुरजंट सिंह तथा सुखवीर सिंह को कार्रवाई करने का बहाना बनाकर थाने में ले गए।

अंदर ले जाकर एसआई कल्पना और आरएसी के पचास-साठ जवानों ने मारपीट शुरू कर दी। इस पर थाने के बाहर खड़े लोग अंदर आ गए। इन्हें अंदर आते ही एसआई पृथ्वीराज ने भगा दिया। इसके बाद पुलिस ने एडवोकेट झोरड़ और उनके साथियों सावन खान, नरेश, रवि स्वामी, राहुल नायक, बलजीत सिंह मजहबी, गुरजंट सिंह तथा सुखवीर सिंह को हवालात में बंद कर दिया तथा बाद में पुलिसकर्मियों ने उन्हें बुरी तरह पीटा। आरोप है कि पुलिस कर्मियों ने खाली कागजों पर उनके हस्ताक्षर ओर अंगूठे के निशान भी ले लिए।​​​​​​​

एडवोकेट के खिलाफ पहले पुलिस ने दर्ज किया था मामला एडवाकेट झोरड़ और उसके साथियों के खिलाफ कुछ दिन पहले पुलिस ने धमकाने और अवैध रूप से वसूली करने का मामला दर्ज किया था। इसके बाद से मामला काफी गर्माया हुआ था। पिछले दिनों एडवोकेट झोरड़ से पुलिस के मारपीट करने के मामले में बीकानेर बार संघ ने रोष प्रदर्शन भी किया था।​​​​​​​

अनूपगढ़ डीएसपी को सौंपी जांच इस मामले एसपी आनंद शर्मा का कहना है कि एडवोकेट विजय झोरड़ ने एसएचओ और पुलिस कर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। पूर्व में घड़साना थाने में एडवोकेट के खिलाफ धमकाने और अवैध वसूली आदि का मामला दर्ज है। इस्तागासे के माध्यम से एसएचओ और पुलिस कर्मियों के खिलाफ दर्ज मामले में जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp