बीकानेर से बुरी खबर, पलक भर में उजड़ गया हंसता खेलता परिवार - Khulasa Online

बीकानेर से बुरी खबर, पलक भर में उजड़ गया हंसता खेलता परिवार

खुलासा न्यूज़, बीकानेर। गांव सुरजसिंघपुरा के रामनिवास जाट की आज दुनिया ही उजड़ गई। उसकी पत्नी 2 बेटियां के साथ पीहर से घर लौट रही थी। रास्ते में हादसे ने तीनों की जान ले ली और हंसता खेलता परिवार उजड़ गया। 25 वर्षीया रूकमा के पीहर व ससुराल में घटना की जानकारी आग की तरह फैल गई व दोनों गांव का माहौल गमगीन हो गया है। परिवार जनों को गहरा सदमा लगा है।

तेज रफ्तार कार ने सड़क किनारे बैठे सात लोगों को रौंदा, चार की मौत जिले की श्रीडूंगरगढ़ तहसील के लखासर के पास रविवार को तेज रफ्तार कार ने सड़क किनारे बैठें सात लोगों को रौंद डाला, जिससे चार की मौत हो गई जबकि तीन जने घायल हुए है। घायलों की भी हालत गंभीर बनी हुई है। हादसे की सूचना मिलने के बाद श्रीडूंगरगढ़ एवं सैरूणा पुलिस मौके पर पहुंच कर घायलों को अस्पताल भेजा। शवों को श्रीडूंगरगढ़ के अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है।श्रीडूंगरगढ़ सीआइ सत्यनारायण गोदारा ने बताया कि रविवार शाम को उदाराम मेघवाल, रुखमा देवी(27), अंजली (4) एवं हर्षिता (2) की मौत हुई है। वहीं तीन जनें घायल हुए है। घायलों को 108 एम्बुलेंस से श्रीडूंगरगढ़ अस्पताल भेजा गया, जहां से घायलों को बीकानेर के पीबीएम अस्पताल रेफर कर दिया गया। समंदसर निवासी दुदाराम जाटउसकी पोती रूखमा देवी एव रुकमा की दो बेटियां हर्षिता व अंजली लखासर में राजमार्ग पर सड़क किनारे बैठे बस का इंतजार कर रहे थे, तभी जयपुर की तरफ से आई तेज रफ्तार कार ने उन्हें रौंद डाला। यह सभी हादसे से कुछ देर पहले ही समंदसर से लखासर बस स्टैंड पहुंचे थे। यह सभी सूरजपुरा जाने के लिए बस का इंतजार कर रहे थे।

बाइक को बचाने के चक्कर में हुआ हादसा पुलिस के मुताबिक प्रथमदृष्टया पता चला है सड़क पर अचानक बाइक आने से कार चालक ने उसे बचाने के चक्कर में कार अनियंत्रित होकर सड़क किनारे बैठे लोगों पर चढ़ गई। पुलिस ने कार को जब्त कर लिया है।

 

error: Content is protected !!
Join Whatsapp 26