चाची बदनाम कर रही थी, गला घोंटकर मार डाला, 9 दिन में जानवर नोंच गए लाश - Khulasa Online

चाची बदनाम कर रही थी, गला घोंटकर मार डाला, 9 दिन में जानवर नोंच गए लाश

बाड़मेर में गुमशुदा महिला का 9वें दिन कंकाल मिलने के मामले मे ंपुलिस ने खुलासा कर दिया है। जिसे जानवर नोंच गए थे। दरअसल, बदनामी के डर से जेठ के बेटे ने ही अपनी चाची की हत्या कर दी। जो आरोपी और उसके पिता को किसी महिला के साथ अवैध संबंध में बदनाम कर रही थी। पुलिस ने आरोपी जेठूते को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने आरोपी को 4 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। पुलिस हत्या से संबंधित हर पहलु पर आरोपी से पूछताछ कर रही है।

दरअसल, चौखला निवासी भोमाराम ने 13 अप्रैल को पुलिस में गुमशुदमी दर्ज करवाई थी। रिपोर्ट में बताया कि 10 अप्रैल को पत्नी कमला अपने जेठूते (जेठ का लड़का) मेघाराम पुत्र दलाराम के साथ शादी के कपड़े लेने के लिए बाड़मेर शहर गई थी। जो शाम को वापस नहीं लौटी। तलाश की लेकिन मिली नहीं। महिला के घर से निकलने के 2 घंटे बाद ही मोबाइल स्विच ऑफ आ रहा था। इस पर पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर तलाश शुरू की। पुलिस के लिए महिला को ढूंढना बड़ा मुश्किल हो गया था। पुलिस ने महिला के कॉल डिटेल के आधार पर कई लोगों से पूछताछ की। पुलिस ने मोबाइल के आधार के साथ तलाश जारी रखी। मोबाइल ट्रेस कर पुलिस आरोपी जेठूते तक पहुंची। आरोपी युवक की निशानदेही पर शव बरामद किया।

नागाणा थानाधिकारी नरपतदान के मुताबिक आरोपी मेघाराम ने महिला के सिर व मुंह पर वार किया। इसके बाद गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी गई।

बदनामी का बदला लेने के लिए हत्या की

पुलिस ने मेघाराम पुत्र दलाराम निवासी चौखला का गिरफ्तार किया और महिला के बारे में पूछताछ की तो शुरूआती 8-10 घंटे तक उसने कुछ कबूल नहीं किया। थाने पहुंचने के बाद बताया कि चाची कमला मुझे व मेरे परिवार को बदनाम कर रही थी। मैंने कमला को ठिकाने लगा दिया है। मेघाराम ने पूछताछ में बताया कि महिला उसे और उसके पिता को किसी के साथ अफेयर होने के मामले में गांव में बदनाम कर रही थी। इससे वो परेशान था। काफी समय से महिला को ठिकाने लगाने की तैयारी में था।

कपड़े खरीदने साथ लेकर गया

पूछताछ में बताया कि 10 अप्रैल को कमला से मिला। बाड़मेर जाने का बताया तो कमला ने भी कहा कि वो भी कपड़े लेने के लिए बाड़मेर चलना चाहती है। इस पर कमला को साथ ले गया। बांदरा के पास जाल के नीचे बातचीत करते हुए पहले झगड़ा किया। गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद 12 अप्रैल से ही मेघाराम जोधपुर में मोटरपंप की दुकान पर मजदूरी पर लग गया था। पुलिस ने जोधपुर से मेघाराम को गिरफ्तार किया है।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp