शिक्षा मंत्री के विधानसभा में सिर्फ एक व ऊर्जा मंत्री के पांच अंग्रेजी माध्यम स्कूलें खोलने की घोषणा - Khulasa Online

शिक्षा मंत्री के विधानसभा में सिर्फ एक व ऊर्जा मंत्री के पांच अंग्रेजी माध्यम स्कूलें खोलने की घोषणा

बीकानेर. राज्य सरकार की ओर से बजट घोषणा में बीकानेर जिले में इस बार 20 अंग्रेजी माध्यम की स्कूलें खोलने की घोषणा की गई है। अंग्रेजी माध्यम की स्कूलों को बढ़ावा देने व इसके प्रति रूझान को देखते हुए सरकार अब हर पांच हजार से अधिक की आबादी में भी अंग्रेजी माध्यम की स्कूलें खोलने की भी घोषणा कर दी है। प्रदेश से शिक्षा का प्रतिनिधित्व कर रहे बीकानेर के पश्चिम विधानसभा के विधायक डॉ. बी.डी.कल्ला। कल्ला को वर्तमान में शिक्षामंत्री का दायित्व दिया गया है, लेकिन इनके विधानसभा में सिर्फ एक ही अंग्रेजी माध्यम की स्कूलें खोलने का निर्णय लिया गया है। जबकि ऊर्जा मंत्री के विधानसभा में पांच अंग्रेजी माध्यम की स्कूलें खोलने की घोषणा की गई है। ऐेसे में शिक्षामंत्री के विधानसभा में एक ही अंग्रेजी माध्यम की स्कूल की घोषणा चर्चा का विषय बना हुआ है। शिक्षामंत्री के विधानसभा में एक ही अंग्रेजी माध्यम की स्कूल खुलना जनप्रतिनिधियों की बेरूखी है। लाखों की जनसंख्या वाले इस विधानसभा में अभी तक सिर्फ एक ही चल रही है और एक ही घोषणा हुई है। दो अंग्रेजी की माध्यम की स्कूलों के खुलने से शिक्षामंत्री का प्रतिनिधित्व इस क्षेत्र से कमजोर पड़ रहा है। जानकारों की मानें तो शिक्षामंत्री की भी मुख्यमंत्री स्तर तक सुनवाई में कमी आना है। शिक्षामंत्री डॉ. बी.डी.कल्ला के विधानसभा क्षेत्र में आज तक सिर्फ दो ही अंग्रेजी माध्यम की स्कूलें खुली है जबकि जिले की अन्य विधानसभाओं में ब्लॉक, तहसील स्तर तक अंग्रेजी माध्यम की स्कूलें खुल रही है। बीकानेर जिले में अब अंग्रेजी माध्यम के 20 स्कूल खुलेंगे। प्रदेश में 179 राजकीय विद्यालयों को महात्मा गांधी राजकीय अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों में रूपांतरित किया गया है। बीकानेर पश्चिम में राउप्रावि गंगाशहर को अंग्रेजी माध्यम का विद्यालय बनाया गया है। पूर्व में सूरसागर राबाउमावि, सूरसागर में खुली हुई है। इनमें बीकानेर पश्चिम में गंगाशहर, कोलायत के कोलायत, सियाणा, गौडू, बज्जू, हदां, श्रीडूंगरगढ़ के सेरूणा, बाना, रिड़ी, पांचू के स्वरूपसर, जयसिंहदेसर मगरा, खाजूवाला के खाजूवाला, दंतौर, पूगल, लूणकरणसर के बम्बलू, राणेर, कालू, खियेरा, अर्जुनसर में खुलेंगे। पांच हजार से अधिक आबादी के गांवों में खुलेंगे अंग्रेजी माध्यम के स्कूलें पांच हजार से अधिक आबादी वाले समस्त गांवोंध्कस्बों में स्थापित राजकीय विद्यालयों को महात्मा गांधी राजकीय विद्यालय में रूपांतरित करने का प्रस्ताव रखा। आगामी सत्र 2022.23 तक 1200 महात्मा गांधी राजकीय अंग्रेजी माध्यम विद्यालय खोले जाने प्रस्तावित है। इसी क्रम में सत्र 2021.22 में 348 राजकीय विद्यालयों को रूपांतरित कर अंग्रेजी माध्यम बनाया गया है। शेष विद्यालयों के रूपांतरण के लक्ष्य पूर्ति के लिए 700 विद्यालयों के रूपांतरण प्रस्ताव प्राप्त किए जाने है। माध्यमिक शिक्षा निदेशक कानाराम ने समस्त मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी एवं पदेन जिला परियोजना समन्वयक समग्र शिक्षा को निर्देश दिए है। 25 से 31 मार्च से मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी को प्रधानाचार्यो से एसडीएमसी द्वारा अनुमोदित प्रस्ताव गंगवाकर निर्धारित मानदण्डो के परीक्षण के बाद संबंधित जिला शिक्षा अधिकारी मुख्यालय को भेजे तथा 7 अप्रैल तक जिला शिक्षा अधिकारी मुख्यालय प्राप्त प्रस्तावों का संपूर्ण परीक्षण के बाद संबंधित मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी को भेजें तथा 15 अप्रैल तक मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी प्राप्त प्रस्तावों का संपूर्ण परीक्षण के बाद निदेशालय को प्रस्ताव संबंधित सॉफ्ट कॉपी एवं हार्ड कॉपी में वर्णित ई.मेल पर भेजें। इनका कहना है सरकार को सारे विधानसभाओं में बराबर स्कूलें खुलनी चाहिए। इसके साथ ही हिन्दी व अंग्रेजी दोनो होने चाहिए। इससे बच्चों की पढ़ाई भी बेहतर होगी। रवि आचार्यए अतिरिक्त महामंत्रीए शिक्षक संघ राष्ट्रीय
error: Content is protected !!
Join Whatsapp