>


खुलासा न्यूज, बीकानेर।  बीकानेर  में मंगलवार रात 9 बजे जैसे ही चिकित्सा विभाग ने स्लॉट ओपन किया, हजारों की संख्या में अपने घरों पर साइट को खोलकर बैठे इच्छुक युवाओं ने इसे बुक कर लिया। जिसको एक मिनट भी विलम्ब हुआ उसको डोज नहीं मिली। मजे की बात यह है कि साइट पर ग्रीन बॉक्स में वैक्सीनेशन सेंटर पर सौ से ज्यादा डोज बताई जा रही है लेकिन बुकिंग करने पर सभी डोज बुक होने का संदेश आ जाता है।

वैक्सीन की कमी है समस्या

दरअसल, देश में जरूरत के हिसाब से वैक्सीन ही उपलब्ध नहीं है। ऐसे में चिकित्सा विभाग ने भीड़ को नियंत्रित करने के लिए इस तरह की व्यवस्था कर दी है कि दिनभर में महज 5600 लोग ही आ सकते हैं। इसमें भी शहर में महज 16 बूथ ही तय किए गए हैं, जबकि शेष 12 बूथ गांवों में दिए गए हैं। शहरी क्षेत्र में इसी कारण बड़ी संख्या में लोग वंचित हो रहे हैं। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में सुबह तक स्लॉट खाली रह जाते हैं।

सब नहीं पहुंचे वैक्सीन लगवाने

स्लॉट ओपन होते ही जो लोग कुछ मिनट में ही अपनी डोज बुक करवा लेते हैं, उनमें अनेक सेंटर पर आ ही नहीं रहे। 18+ ने मंगलवार काे 5800 डोज बुक करवाई थी लेकिन 5189 ही वैक्सीनेशन करवाने पहुंचे। 611 का इंतजार ही होता रहा। अलबत्ता बीकानेर में एक भी ऐसा सेंटर नहीं है जहां शतप्रतिशत युवाओं ने अपने वैक्सीनेशन करवाया हो। गडियाला गांव में सबसे कम 200 में से 124 युवा ही पहुंचे।