इन जिलों में बरसात व ओलावृष्टि का अलर्ट, फिर बढ़ेगी ठंड - Khulasa Online

इन जिलों में बरसात व ओलावृष्टि का अलर्ट, फिर बढ़ेगी ठंड

सीकर । राजस्थान में सर्दी फरवरी में भी पीछा नहीं छोडऩे वाली है। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार प्रदेश के 11 जिलों में फिर बरसात व ओलावृष्टि की संभावना बन रही है। जो 3 से 5 फरवरी के बीच हो सकती है। इससे एक बार फिर सर्दी का असर बढ़ सकता है। इससे पहले प्रदेश के शेखावाटी अंचल में सोमवार को तापमान छह दिन बाद जमाव बिंदू से ऊपर आया। फतेहपुर में जो तापमान 26 जनवरी से लगातार जमाव बिंदू व उससे नीचे ठिठका हुआ था, वह सोमवार को 3.4 डिग्री दर्ज हुआ। हवाओं की रफ्तार भी कम होने के साथ धूप भी खिली है। जिससे पिछले कुछ दिनों से पड़ रही सर्दी से कुछ राहत मिली है। लेकिन, मौसम वैज्ञानिकों की चेतावनी से यह राहत इस सप्ताह के मध्य तक ही जारी रह सकती है। इन जिलों में बरसात व ओलावृष्टि की संभावना स्काई मेट वेदर रिपोर्ट के अनुसार एक नया पश्चिमी विक्षोभ जम्मू कश्मीर को प्रभावित करने वाला है। इसके प्रभाव से राजस्थान के उत्तरी जिलों में 3 फरवरी की रात से 5 फरवरी तक वर्षा होने की संभावना है। आगामी बारिश के स्पेल से प्रभावित होने वाले जिले श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, चुरु, झुंझुनू, अलवर, भरतपुर, धौलपुर, दौसा, सीकर, करौली तथा जयपुर हो सकते हैं। वर्षा की गतिविधियां उत्तरी जिलों में अधिक रहेंगी तथा बाकी जिलों में हल्की बरसात की संभावना है। रिपोर्ट के अनुसार इस दौरान बारिश के साथ बादलों की गर्जना, बिजली गिरने तथा एक-दो स्थानों पर ओलावृष्टि की गतिविधियां हो सकती हैं। बरसात के फिर बढ़ेगी ठंड मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार बरसात वाले दिनों में अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज की जाएगी। लेकिन, जब बारिश की गतिविधियां बंद हो जाएंगी तब उत्तर से फिर ठंडी हवाएं शुरू हो जाएगी। जिससे न्यूनतम तापमान में फिर से कमी होगी। जिससे सर्दी का असर फिर बढ़ जाएगा। चूरू सबसे ठंडा इससे पहले रविवार को शेखावाटी में सर्दी का असर बढ़ा हुआ रहा। अंचल के फतेहपुर में जहां तापमान माइनस में दर्ज हुआ। वहीं, शहरों में चूरू शहर भी देश के सबसे ठंडे मैदानी इलाकों में छठे स्थान पर रहा।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp