गाय और गोचर के बाद अब देवीसिंह भाटी धर्म रक्षा के गुण सिखाने में हुए व्यस्त - Khulasa Online

गाय और गोचर के बाद अब देवीसिंह भाटी धर्म रक्षा के गुण सिखाने में हुए व्यस्त

खुलासा न्यूज, बीकानेर।  पूर्व सिंचाई मंत्री देवी सिंह भाटी अब धर्म रक्षा के गुण सिखाने पर उतर आए हैं। रविवार को बिदासर हाउस में भाटी ने सर्व समाज के लोगों को एक मंच पर लाकर उनके बच्चों को धर्म और आत्मरक्षा के गुर सिखाने शुरू किए।

बीदासर हाउस, राजपूत विश्राम गृह में पूर्व सिंचाई मंत्री देवीसिंह भाटी के नेतृत्व में संस्कृत एवं गीता का पठन एवं अध्यापन करवाया गया साथ ही ताइक्वांडो कराटे आदि का प्रशिक्षण दिया गया एवं लाठी के प्रशिक्षकों द्वारा लाठी से वार एवं बचाव करना सिखाया गया। रविवार को शहर के व्यस्तम ईलाके तीर्थ स्तम्भ पर स्थित राजपूत विश्राम गृह में प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन हुआ। कार्यक्रम के दौरान कर्नल हेमसिंह मंड्रेला, क्षत्रिय सभा अध्यक्ष केपीसिंह सिसोदिया, स्वामी विमर्शानन्द गिरी महाराज, संस्कृत के दो महिला एवं पुरुष प्रशिक्षक, ताइक्वांडो के महिला, पुरुष प्रशिक्षक, लाठी के प्रशिक्षक मंच पर रहे। कार्यक्रम के पूर्व सभी अतिथियों ने वीरवर दुर्गादास राठौड़ की मूर्ति पर माल्यार्पण किया। कार्यक्रम की विशेषता यह रही कि पूर्व सिंचाई मंत्री देवीसिंह भाटी ने जनसमूह, श्रोताओ के बीच बैठकर सम्पूर्ण कार्यक्रम को देखा, समझा और जाना, भाटी के इस नए इनोवेटिव आइडिया की दिनभर शहर भर में चर्चा रही। देवीसिंह भाटी ने अपने सम्बोधन में कहा कि पूरे विश्व स्तर पर भारत को उभरने के लिए संस्कारित होने और सशक्त होने की जरूरत है जिसके लिए संस्कृत एवं गीता ज्ञान की महत्ती जरूरत है इसलिए आज का यह आयोजन रखा गया है, जिससे बच्चे एवं युवा ज्ञान में समृद्ध बने साथ ही शारीरिक रूप से दक्ष भी बने। देवीसिंह भाटी के मुताबिक प्रत्येक रविवार को सँस्कृत, गीता ज्ञान समृद्धि शिविर, आत्मरक्षा शिविर का आयोजन यथावत रहेगा। कार्यक्रम में स्वामी विमर्शानन्द गिरी महाराज ने संस्कृत में संवाद किया विद्यार्थियों के साथ और उसके बाद गीता की उपयोगिता के विषय में उपस्थित जनसमूह को अवगत करवाया, स्वामी ने आए जनसमूह को धर्म कर्म को नित्य क्रिया में शामिल करने और शारीरिक मजबूत बनने की सलाह दी। कर्नल हेमसिंह मंड्रेला ने लयबद्ध गायत्री श्लोक सुनकर सारे जनसमूह को अभिभूत कर लिया, कार्यक्रम में क्षत्रिय सभा की तरफ से सर्व समाज का ओंकारसिंह मोरखाना एवं डूंगरसिंह तेहनदेसर एवं गिरधारीसिंह खिंदासर ने स्वागत किया। कार्यक्रम में ताइक्वांडो के प्रशिक्षक वीरेन्द्र योगी एवं हेमलता योगी ने अपने ट्रेन विद्यार्थियों के माध्यम से अपने कौशल का दमखम दिखाया इसके साथ ही लाठी वाले प्रशिक्षकों ने मंच के माध्यम से युवाओं, बुजुर्गों को लाठी के प्रहार एवं बचाव के गुर सिखाए। क्षत्रिय सभा के अध्यक्ष केपसा ने कहा कि इस युग के शस्त्र एवं शास्त्र दोनों की शिक्षा, दीक्षा महत्वपूर्ण है, भाटी के प्रयासों से निःसंदेह सर्वसमाज के लोगों को लाभ मिलेगा, भाटी के निर्देशों पर हर रविवार को यह कार्यक्रम करना तय किया है जिसमें क्षत्रिय सभा पूरी तलीनता से सहयोग करेगी। कार्यक्रम में बीकानेर प्रधान लालचन्द आसोपा, कांग्रेस नेता गोविन्दराम मुण्ड, भाजपा ओबीसी मोर्चा जिलाध्यक्ष भंवरलाल जांगिड़, समाजसेवी मोहनसिंह नाल, रोटरी क्लब सचिव घनश्याम रामावत, भाजपा नेता विजय उपाध्याय, बैंक यूनियन नेता वाईके शर्मा योगी, एसपी पुरोहित, बजरंगसिंह रॉयल, ईश्वरसिंह चनाना, भाजयुमो पूर्व जिलाध्यक्ष भागीरथ मुण्ड, भाजयुमो पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष शिवराज बिश्नोई, तेजुसिंह मेहलिया, अंशुमानसिंह भाटी, गोवर्द्धन सिंह लुहारकी, बजरंगसिंह बांगड़सर, देवेंद्रसिंह हाड़ला, कुलदीपसिंह महरौली, महेंद्रसिंह भोलासर, लक्ष्मणसिंह सियाणा, राजूसिंह, बलदेवसिंह गुड़ा, विप्र फाउंडेशन के दिनेश ओझा, समुन्द्रसिंह गोगड़ियावाला, नवीन कुमार छिंपा, राजीव कुमार बाना, दीपक शर्मा, जिग्नेश मीणा, चन्द्रसिंह चौधरी, डॉक्टर जितेंद्रसिंह शेखावत, रविंद्रसिंह मोकलसर, सोहनलाल बिश्नोई, शेरसिंह जाखण सहित कई लोग मौजूद रहे।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp