बीकानेर - हर्षोलाव सहित शहर के 6 तालाब बनेंगे माॅडल तालाब - Khulasa Online

बीकानेर – हर्षोलाव सहित शहर के 6 तालाब बनेंगे माॅडल तालाब

जनआंदोलन के रूप में विकसित हो जलसंरक्षण की धरोहर-गौतम
मानसून से पूर्व नाला सफाई कार्य पूर्ण करने के निर्देश

बीकानेर  । शहर के एतिहासिक हर्षाेलाव, संसोलाव, धरणीधर, शिवबाड़ी, फूल नाथ जी और देवी कुंड सागर को मॉडल तालाब के रूप में विकसित किया जाएगा। जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने सोमवार को नगर विकास न्यास सभागार में आयोजित साप्ताहिक समीक्षा बैठक में इस संबंध में निर्देश देते हुए कहा कि नगर विकास न्यास अन्य विभागों के साथ समन्वय करते स्थानीय लोगों की मदद से एक जनआंदोलन के रूप में इन तालाबों के जीर्णोद्धार के काम करें। इस कार्य में स्वयंसेवी संगठनों, धार्मिक और अन्य संस्थाओं की मदद ली जाए। पीडब्ल्यूडी एक-एक तालाब के लिए एक-एक इंजीनियर को प्रभारी बनाएं और सापेक्षिक रूप से अधिक सुधार करने वाले को 15 अगस्त पर जिला स्तरीय समारोह में  विश्वेश्वरैया अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा। संतुष्टि का स्तर बढ़ाने के लिए अधिकारी विशेष ध्यान दें जिला कलक्टर ने कहा कि अधिकारी शिकायतों का विभागीय रिव्यू करते हुए यह देखें कि राहत दिए गए प्रकरणों में संतुष्टि का स्तर कितना है और संतुष्टि बढ़ाने के लिए अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देशित किया जाए। संतोष विभागीय कामकाज का आईना है, यह एक स्वतंत्र रिव्यू है जिसके आधार पर  विभाग अपनी कमियों में सुधार कर सकते हैं। पीएचडी में राहत प्रकरण संतुष्टि 81.24 प्रतिशत रहा है जबकि पंचायती राज यूआईटी और आबकारी जैसे विभागों में संतुष्टि का स्तर 40 प्रतिशत से भी कम है। अधिकारी देंगे प्रेजेंटेशन गौतम ने अगले सप्ताह होने वाली बैठक में नगर निगम, यूआईटी और पंचायती राज के अधिकारियों को संतुष्टि के स्तर में सुधार करते हुए प्रेजेंटेशन देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बीकेईएसएल अंडरग्राउड कैबलिंग करने के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधियों और आमजन का सहयोग लेते हुए कार्य करें। यदि कोई समस्या आती है तो समझाइश की जाए। बंद पड़े हैंडपंप, ट्यूबवेल के सर्वे के निर्देश गौतम ने जिला परिषद के मुख्यकार्यकारी अधिकारी को निर्देश दिए कि जिले में जो भी ट्यूबवेल और हैंडपंप बंद पड़े हैं उन्हें एक विशेष अभियान चलाकर अगले 1 सप्ताह में उनका सर्वे करवाएं और जो ट्यूबवेल और हैंडपंप तकनीकी कारणों से सही नहीं है उन्हें चिन्हित करते हुए संबंधित कार्यकारी एजेन्सी से  रिकवरी की जाए तथा  उन्हें सुधारने की कार्यवाही करवाई जाए। पीएचडी को फंड ट्रांसफर करवा कर तुरंत कार्य करवाया जाए ताकि जनता को राहत मिल सके। गौतम ने आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत राशन सामग्री का उठाव व वितरण कार्य शीघ्र पूर्ण करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस कार्य में उपखंड अधिकारियों से समन्वय करते हुए प्रवासियों को फोन कर बुलवाएं जिससे भोजन जैसी मूल आवश्यकता पूरी करने में प्रवासियों को सहायता मिल सके। अंडर ब्रिज में पानी भरने की घटनाएं ना हो जिला कलेक्टर ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता को निर्देश दिए कि आगामी मानसून के दौरान जिले में कहीं भी अंडर ब्रिज आदि में पानी भरने के कारण दुर्घटना ना घटे । इसके लिए पहले से ही प्लानिंग कर तैयारी कर ली जाए। इस कार्य में रेलवे व स्थानीय व्यक्तियों से बातचीत कर तथा जरूरत के उपकरण ऐसे स्थान पर रखे जाएं, जहां से शीघ्र ही जरूरत वाले स्थान पर पहुंचाकर राहत कार्य शुरू कर शीघ्र पानी की निकासी की जा सके। मुख्य नालों की सफाई प्राथमिकता से हो गौतम ने नगर निगम कमिश्नर को शहर के बड़े और मुख्य नालों की सफाई कार्य को शीघ्र से करवाने के निर्देश देते हुए कहा कि सर्किट हाउस के सामने से गुजरने वाले, बिन्नाणी, नत्थूसर गेट आदि से होकर निकलने वाले नाले सहित सभी मुख्य नालों की सफाई मानसून से पूर्व सुनिश्चित करवाएं। सूरसागर में बारिश का पानी ना पहुंचे इसके लिए सभी वैकल्पिक व्यवस्थाएं दुरुस्त कर ली जाएं।नगर विकास न्यास अभियंता को पब्लिक पार्क का गेट मंगलवार तक ही ठीक करवाते हुए कोविड-19 के कारण रूके पार्क, सर्किल सौंदर्यीकरण, सड़क सुधार के काम सामान्य रूप से चालू करवाने के निर्देश दिए। गौतम ने कहा कि पशुपालन विभाग के चिकित्सकों के ग्रामीण क्षेत्रों में नियमित ना जाने जैसी शिकायतें मिल रही है यह अस्वीकार्य है। उन्होंने पशुपालन विभाग को व्यवस्थाएं ठीक करने के निर्देश  देते हुए कहा कि ऐसी शिकायतों की जांच करते हुए सम्बंधित के खिलाफ कार्यवाही कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। टिड्डी नियंत्रण के लिए जिले में पांच ड्रोन जिला कलक्टर ने बताया कि टिड्डी नियंत्रण के लिए अत्याधुनिक उपकरणों का उपयोग किया जा रहा है। इस क्रम में जिले में 5 ड्रोन के माध्यम से कीटनाशक का छिड़काव कर टिड्डी नियंत्रण का कार्य प्रभावी तरीके से किया जाएगा । एक ड्रोन कृषि विभाग को प्राप्त हो गया है जबकि शेष चार अगले  5 दिनों में विभाग को उपलब्ध हो जाएंगे। टिड्डी नियंत्रण के लिए सभी ग्राम पंचायत स्तर तक कीटनाशक की उपलब्धता सुनिश्चित कर दी गई है। साथ ही अगर जरूरत पड़ी तो फायर ब्रिगेड के माध्यम से भी स्प्रे कर टिड्डी नियंत्रित की जाएगी मनरेगा में सुबह 7 बजे से 10 बजे तक हो सघन निरीक्षण गौतम ने मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद सहित मनरेगा से जुड़े सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि मंगलवार से सभी अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में प्रातः 7 बजे से 10 के बीच मनरेगा कार्यों का निरीक्षण करेंगे।  गौतम ने कहा कि निरीक्षण के दौरान इस बात की जांच हो कि किसी मेट के कार्यकाल में यदि श्रमिकों की मजदूरी लगातार कम आ रही है, तो उन्हें तुरंत हटाने की कार्यवाही की जाए।  साथ ही जिन पंचायत समितियों में जेटीए और ग्राम विकास अधिकारी पर्याप्त संख्या में नहीं है  वहां अन्य पंचायत समिति से कार्य व्यवस्था के तहत प्रतिनियुक्ति की जाए। बैठक में नगर निगम आयुक्त डाॅ खुशाल यादव,पानी, बिजली, सड़क शिक्षा, स्वास्थ्य सहित सम्बंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp