Social Media पर करोड़ों की संपत्ति का वारिस बनने का झांसा देकर ढाई करोड़ रूपये ठगने का आरोपी गिरफ्तार - Khulasa Online

Social Media पर करोड़ों की संपत्ति का वारिस बनने का झांसा देकर ढाई करोड़ रूपये ठगने का आरोपी गिरफ्तार

जयपुर: जयपुर पुलिस (SOG) (Jaipur Police) ने रविवार को एक ऐसे शातिर साइबर ठग (Vicious Cyber Thug) को गिरफ्तार किया है जो कि सोशल मीडिया (Social Media) के फेसबुक सहित अन्य प्लेटफार्म पर भोले भाले लोगों को अपने जाल में फंसा कर करोड़ों की संपत्ति उनके नाम करने और खुद को विधवा विदेशी कैंसर पेशेंट महिला (Widow Foreign Cancer Patient Woman) बता कर करोड़ो ठगने का काम करता था. इस शातिर ठग ने राजस्थान की एक धनाढ्य परिवार की महिला से फेसबुक पर दोस्ती कर ली. और उसे चैटिंग के जरिए झांसे में लेकर अपनी 3.9 मिलियन डॉलर (करीब 28 करोड़ रुपए) की संपत्ति का वारिस बनाने का झांसा देकर ढाई करोड़ रुपए हड़प लिए. 55 बैंकों के खातों में जमा करवाई रकम: शातिर ठग ने पीड़िता को विश्वास में लेकर यह रकम करीब 55 बैंक खातों में ऑनलाइन ट्रांसफर (Online Transfor) करवाई. SOG ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ जारी है. मामला उजागर होने पर केस की अनुसंधान में जुटी एसओजी जयपुर की साइबर क्राइम (Cyber Crime) थाना पुलिस ने चार साल से फरार ठग को गिरफ्तार कर लिया. इस वारदात का खुलासा रविवार शाम को किया गया. आरोपी मूल बिहार ​का रहने वाला है: एसओजी ने आरोपी को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की है. पूछताछ में सामने आया कि आरोपी मूल बिहार (Bihar) का रहने वाला है. एसओजी के डीआईजी शरत कविराज ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी नीरज सूरी है. वर्तमान में उत्तराखंड में देहरादून स्थित बद्रीपुर के पास शिव विहार कॉलोनी में रह रहा था. डीआईजी के मुताबिक ठगी की शिकार हुई सवाई माधोपुर की रहने वाली गुंजन शर्मा ने 12 मई 2017 को कोतवाली थाने में एक मुकदमा दर्ज करवाया था. Rebecca Christine के नाम से बना रखाी थी फर्जी आईडी: एसओजी के अनुसार शातिर ठग नीरज सूरी ने Facebook पर Rebecca Christine नाम की विदेशी महिला की फर्जी आईडी बना रखाी थी और इसी आईडी से पीडित गुंजन को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी. गुंजन ने रिक्वेस्ट को स्वीकार कर लिया और इससे चैटिंग करने लगी. इसी दौरान गुंजन और ठग की दोस्ती गहरी होती गई और गुंजन को उस से हमदर्दी होने लगी. स्वयं को कैंसर पीड़ित और विधवा बताया: विदेशी महिला बने शातिर ठग नीरज ने गुंजन को बताया कि वह कैंसर से पीड़ित है और उसके पति की मृत्यु हो गई है. उसके परिवार में कोई वारिस नहीं है. उसके पास 3.9 मिलियन डालर की सम्पति है. जो कि वह आने वाले समय में गुंजन के नाम कर देगी. ऐसे में ठग ने गुंजन को विश्वास में लेकर उस से ठगी कर ली. इंटरनेशनल मॉनिटरिंग फंड और अन्य चार्जेज के नाम से मांगी रकम: डीआईजी शरत कविराज के मुताबिक ठग ने FOREIGN एक्सचेंज डिपार्टमेंट की तरफ से एक फर्जी ईमेल गुंजन शर्मा को भेजा. जिसमें बैनजॉनसन नाम के प्रतिनिधि ने गुंजन से संपर्क करके इंटरनेशनल मॉनिटरिंग फंड के नाम से लगने वाला चार्जेज व अन्य औपचारिकताओं के नाम पर, हवाला के जरिये प्राप्त होने वाले डॉलर पर लगी उनकी कंपनी की मोहर को साफ करने के लिए विशेष प्रकार का केमिकल खरीदने के नाम पर, Rebecca Christine द्वारा भेजे गये महंगे गिफ्ट जिसमें डॉलर पौंड व गोल्ड को कस्टम ऑफीस द्वारा पकड़े जाने छुड़वाने के लिए कस्टम ड्यूटी इत्यादि के नाम पर, विदेश से प्राप्त होने वाली राशि पर आरबीआई की तरफ से लिया जाने वाला शुल्क के नाम पर, प्रोसेसिंग फीस, वकील का खर्चा इत्यादि के नाम पर करीब 2.5 करोड़ रूपये विभिन्न 55 बैंक खातों में परिवादिया से जमा करवाये गये.
error: Content is protected !!
Join Whatsapp