बीकानेर। परीक्षा के दिन नजदीक आते ही, बच्चों में स्वत: ही तनाव होना स्वाभाविक है, इस दौरान माता-पिता की भूमिका सकारात्मक रहनी चाहिए ताकि बच्चा तनाव से दूर रहे। यह बात कॅरिअर काउन्सलर डॉ. चन्द्रशेखर श्रीमाली ने करनी नगर स्थित बीकानेर पब्लिक स्कूल में बच्चों को ‘परीक्षा की कैसे करे तैयारी सेमिनार में कही।डॉ. श्रीमाली ने कहा कि अक्सर परीक्षा और पढ़ाई के दबाब के चलते बच्चे पर्याप्त नींद नहीं लेते, वे देर रात तक तो पढ़ाई करते ही हैं, सुबह भी पढ़ाई के लिए जल्दी उठ जाते हैं जिससे पर्याप्त नींद नही हो पाती। जिससे दिमाग सुस्त और उसकी कार्यक्षमता कम हो जाती है। दिमाग तभी ठीक से काम करेगा जब उसे पर्याप्त आराम मिलेगा। इस लिए परीक्षा के दौरान पर्याप्त नींद का लेना भी आवश्यक है। इस अवसर पर बीपीएस प्रिंसिपल श्रीमती शिल्पी खत्राी ने डॉ. चन्द्रशेखर श्रीमाली का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए छात्रों को कहा कि पढ़ाई के दौरान हमेशा कॉन्सेप्ट को समझे न कि उसको रटे। आवश्यक है कि आप पहले विषय को समझें और फिर आगे बढ़े।