बीकानेर। संभाग में संगरिया कस्बे के गांव मालारामपुरा में शादी के दौरान बारातियों में परस्पर मारपीट हो गई। छीनाछपटी के बीच जेवरात लूटने व महिलाओं को बंधक बनाकर ईंट-भाटे तक चल पड़े। वार्ड एक खाजूवाला निवासी रामकृष्ण (54) पुत्र तेजाराम जाट ने पुलिस को बताया कि उसके भतीजे सुशील पुत्र रामलाल की शादी में वह गांव मालारामपुरा बारात में गया था। शादी वाली जगह पर ही ढाबां रोही से दूसरी बारात आई हुई थी। दोनों ओर के बारातियों के लिए अलग-अलग डीजे फ्लोर लगे थे। फेरे होने के बाद विदाई के बारे में लडक़ी वालों से पूछने गया तो दूसरे फ्लोर पर नाच रहे बारातियों राजपाल, शीशपाल, पवन, रमेश समेत 20-25 जनों ने एकराय होकर गली गलौच व मारपीट शुरु कर दी। बीच-बचाव कर अन्य लोगों ने बचाया। वहीं, दूसरे पक्ष की ओर से गांव धन्नासर पीएस रावतसर के राजेंद्र कुमार (38) पुत्र मनफूलराम जाट ने पुलिस को बताया कि शादी में आए गांव खाजूवाला निवासी रामकृष्ण, राधाकृष्ण, रामचंद्र, नरेश, कुणाल, जीतू व कपिल आदि ने एक राय होकर घराती रामलाल के मकान में घुसकर उसे व उसके परिवार की महिलाओं से छीना-झपटी करते हुए मारपीट हुई। सोने के जेवरात लूट लिए। स्त्रियों को बंधक बना लिया। मकान पर ईंट-भाटे फेंके। दोनों मामलों की जांच कर रहे पुलिस चौकी ढाबा प्रभारी एएसआइ राजूराम ने बताया कि वे मौके पर सूचना पाकर सुबह पांच बजे गए तो वहां ईंटे बिखरी हुई थी। ताले टूटे थे और कमरे भीतर से बंद कर औरतें सहमी थी लेकिन किसी ने भी आगे आकर उन्हें बयान दर्ज नहीं करवाए ना ही किसी ने चोट दिखाई।