>


बीकानेर। पुलिस पर आये दिन आरोप लग रहे है कभी भ्रष्टचार तो कभी कुछ दुष्कर्म के आरोप से घिरी पुलिस के बीकानेर के जामसर पुलिस थाना में तैनात एक कांस्टेबल का कारनामा सामने आया है। धोलेरा गांव में रहने वाले अर्जुनसिंह पुत्र दिवान सिंह ने जिला पुलिस अधीक्षक को एक पत्र देकर जामसर थाने में तैनात धर्मवीर यादव के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है कि उन्होने बताया कि मेरा ताऊ का बेटा मेरी जमीन संभालने के लिए गया था वहां धोलेरा फांटे के माता जी का मंदिर स्थित है उसके सामने एक दुकान पर अवैध रुप से शराब की बिक्री हो रही थी। जिसका लोग विरोध कर रहे थे तो । उसी समय मेरा छोटा भाई विक्रम सिंह ने जामसर पुलिस थाने के थानेदार को फोन करके इसकी सूचना दी। तो थानेदार ने मै तो अभी बाहर हूं अभी थाने से आदमी भेजता हूं। थोडी देर में थाने से दो पुलिस वाले आये धर्मवीर व महावीर दोनो ने आते ही दुकानदार से कार मंगवाई और उसमें अवैध शराब की पेटियों को भर कर जामसर थाने लेकर आ गई। उसमें बाद विक्रम को थाने बुलाया गया और कहा कि रिपोर्ट लिखकर दो तो इसके बाद धर्मवीर सिपाही के पास दारु ठेकेदार का फोन आ गया और उसने विक्रम के सामने ही कार को वापस भेज दी जिसमें दारु भर रखी। इसके बाद विक्रम ने कहा इनको क्यों छोड़ा है तो धर्मवीर ने कहा ज्यादा मत बोल इस थाने के इंचार्ज में हूं इतने बोलने के बाद रिपोर्ट को वही फांडकर फेंक दी और विक्रम सिंह को हवालात में बंद कर दिया। अर्जुनसिंह ने पत्र मे बताया है कि सिपाही विक्रम सिंह के खिलाफ विभागीय कार्यवाही करे तथा लाईन हाजिर करने की मांग की है जिससे की गांव में शांति बनी रहे। पत्र में करीब 20 से 50 ग्रामवासियों के हस्ताक्षर है।