खुलासा न्यूज़, बीकानेर। राजस्थान में शुक्रवार को मौसम पलट गया। कई जिलों में ओलावृष्टि और तेज बारिश हुई। बीकानेर की बात की जाए तो शुक्रवार को सुबह से ही घने बादल छाए रहे और सर्द हवा चलती रही। इसके साथ ही दिन में हवा के साथ हल्की बौछारें भी गिरती रही। अचानक बदले मौसम से सर्दी का असर भी बढ़ गया। इससे पूर्व गुरुवार को दिन में बारिश और ओलावृष्टि के बाद रात को 12 बजे भी बारिश का दौर जारी रहा। उत्तरी पूर्वी हवा से दिन में ही हवा में ठंडक रही। दिन में शहरवासियों के खान-पान व पहनावे में बदलाव आ गया है। वहीं मौसम विभाग ने फिर से अलर्ट जारी किया है। आगामी दो दिनों तक बारिश और ओलावृष्टि की संभावना जताई है।

खाजूवाला में तेज बारिश के बाद गिरे ओले, कृषि विभाग के अधिकारियों ने लिया जायजा
खाजूवाला में गुरुवार को तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि भी हुई। जिससे किसानों के माथे पर चिंता की लकीरे आ गई। खाजूवाला के ग्रामीण क्षेत्र में चक 1 पावली, 3 पावली, 10 बीडी, 17 केवाईडी, 13 केवाईडी, 5 पीएचएम, 6 बीडी सहित दर्जनों चकों में ओलावृष्टि हुई है। ओलावृष्टि से क्षेत्र के सैकड़ों किसानों की फसल बर्बाद हो गई, इनमें सरसों की फसलो को भारी नुकसान हुआ हैं। बता दें कि सीमावर्ती क्षेत्र की खाजूवाला के किसानों पर प्राकृतिक आपदा लगातार कहर बरपा रही है। कभी बारिश कभी टिड्डी तो अब ओलावृष्टि ने किसानों की कमर तोड़ दी है । किसान इस कदर भयभीत हो गए हैं कि वह अध पक्की फसलो को तोडऩे को मजबूर होने लगे हैं। खाजूवाला क्षेत्र में कल रात की ओलावृष्टि से किसानों की फसल चौपट हो गई है। चने व सरसों की फसल चौपट होने से किसानों को आर्थिक व मानसिक हानी उठानी पड़ रही है। इसे लेकर किसानों ने मुआवजे की मांग की है तो वही प्रशासन भी अलर्ट मोड़ पर आ गया है। खाजूवाला के उपखण्ड अधिकारी व कृषि विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचक नुकसान का जायजा लिया।