>



बीकानेर। राजस्थान लोक सेवा आयोग, अजमेर द्वारा प्राध्यापक (मा.शि.) प्रतियोगी परीक्षा, 2018 का आयोजन 03.जनवी से 13 जनवरी 2020 तक किया जायेगा।
इसमें सामान्य ज्ञान का प्रश्न पत्र एक सत्र में प्रात: 09:00 बजे से 10:30 बजे तक एवं ऐच्छिक विषयों के प्रश्न पत्र प्रात: 09:00 बजे से 12:00 बजे एवं दोपहर 02:00 बजे से 05:00 बजे तक दो सत्रों में आयोजित की जायेगी। परीक्षा समन्वयक एवं अति.जिला कलक्टर, (प्रशासन) ए.एच.गौरी ने बताया कि इस परीक्षा के सफल एवं संचारू संचालन हेतु राजस्थान प्रशासनिक सेवा, राजस्थान पुलिस सेवा और राजस्थान शिक्षा सेवा के तीन-तीन अधिकारीगण के दल बना कर 12 उडऩ दस्तोंं का गठन किया गया है। इसी प्रकार राजपत्रित स्तर के 12 अधिकारीगण के निर्देशन में उपसमन्वयक दलों का गठन किया गया है। सभी परीक्षा केन्द्रों पर राजपत्रित स्तर के एक अधिकारी को पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया है। प्रत्येक अराजकीय परीक्षा केन्द्रों पर 02 पर्यवेक्षकों की नियुक्ति की गई है। आयोग के निर्देशानुसार प्रत्येक परीक्षा की विडियोग्राफी करवाई जायेगी। इन सभी सतर्कता दलों, पर्यवेक्षकों एवं केन्द्राधीक्षकों से समन्वय के लिये जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक शिक्षा (मुख्यालय) उमाशंकर किराडू को उप समन्वयक अधिकारी नियुक्त किया गया है।
गौरी ने बताया कि जिला पुलिस अधीक्षक स्तर पर भी परीक्षा के सफल संचालन हेतु विस्तृत स्तर पर तैयारियां की जा रही है। पुलिस संबंधित व्यवस्था अति. पुलिस अधीक्षक (शहर) पवन कुमार मीणा के निर्देशन में की जा रही है। सभी परीक्षा केन्द्रों पर पुलिस जाब्ता लगाये जाने की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने बताया कि परीक्षा हेतु 1 जनवरी बुधवार से कलक्टर कार्यालय के कमरा नम्बर 13 में नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है। नियंत्रण कक्ष के दूरभाष नम्बर 0151-2226031 हैं। यह नियंत्रण कक्ष दिनांक 01 जनवरी एवं 02 जनवरी को प्रात: 09.30 से सांय 06.00 बजे तक एवं 03 जनवरी से 13 जनवरी तक को प्रात: 08 बजे से परीक्षा समाप्ति तक कार्यरत रहेगा। नियंत्रण कक्ष के प्रभारी उप विधि परमर्शी, नगर निगम नटवर आचार्य होंगे। प्रत्येक अराजकीय केन्द्र पर नियुक्त वीक्षकों में पचास प्रतिशत वीक्षक राजकीय विद्यालयों से नियुक्त किये जा रहे हैं।
परीक्षा केन्द्र में यह रहेगी मनाही- गौरी ने बताया कि अभ्यर्थी परीक्षा केन्द्र में सेल्युलर फोन, कॉर्डलेस फोन, ब्लूटूथ डिवाईस एवं किसी प्रकार के संचार उपकरण नहीं ले जा सकेगा। परीक्षा आरम्भ होने के 10 मिनिट बाद किसी भी परीक्षार्थी को परीक्षा केन्द्र में प्रवेश नहंी दिया जायेगा। परीक्षा पूर्ण होने तक कोई परीक्षार्थी परीक्षा भवन से बाहर नहीं जा सकेगा। परीक्षार्थी को पूर्ण परीक्षा समाप्ति उपरान्त प्रश्न पत्र एवं उत्तर पत्रक की कार्बन कॉपी अपने साथ ले जा सकेगा।
गौरी ने बताया कि दृष्टिबाधित/अल्पदृष्टि बाधित, सूर्यमुखी या दोनों हाथों की नि:शक्तता वाले अभ्यर्थियों को श्रुतलेखक उपलब्ध कराया जायेगा। वर्तमान में सर्दी के मौसम के मध्यनजर आयोग द्वारा अभ्यर्थियों को गर्म कपड़े एवं शूज पहन कर परीक्षा में बैठने की अनुमति प्रदान की गयी है। इसी प्रकार आयोग द्वारा सिख धर्म के अभ्यर्थियों को कड़ा, कृपाण एवं पगड़ी आदि धार्मिक प्रतीक धारण कर परीक्षा में शामिल होने की अनुमति प्रदान की गई है। परीक्षार्थी अपने साथ ई-एडमिशन कार्ड का प्रिंट लेकर उपस्थित होगा। पुलिस गार्ड द्वारा तलाशी लेने के पश्चात् ही अभ्यर्थियों को परीक्षा केन्द्र पर प्रवेश दिया जायेगा। यदि कोई अभ्यर्थी परीक्षा के समय मूल फोटोयुक्त पहचान पत्र लेकर नहीं आयेगा तो उसे परीक्षा में प्रवेश नहीं दिया जावेगा। मूल फोटोयुक्त पहचान पत्र के रूप में अभ्यर्थी मूल वोटर आई.डी., आधार कार्ड, पेनकार्ड, ड्राईविंग लाईसेंस आदि ला सकता है। परीक्षा समन्वयक ने बताया कि चूंकि इस परीक्षा में बड़ी संख्या में अन्य जिलों से अभ्यर्थी एवं उनके परिजन बीकानेर आयेंगे। अत: मण्डल रेल प्रबंधक, उत्तर पश्चिम रेल्वे, जिला पुलिस अधीक्षक एवं मुख्य प्रबंधक, राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम को आवश्यकतानुसार लोगों के व्यवस्थित आवागमन की व्यवस्था हेतु एवं कोई अभ्यर्थी रेल अथवा बस की छत पर बैठ कर यात्रा नहीं करे, इसके लिये भी पत्र लिखा गया है।
परीक्षा के लिए 64 परीक्षा केन्द्र- बीकानेर में कुल 64 परीक्षा केन्द्र बनाये गये हैं। इनमें 41 अराजकीय एवं 23 राजकीय संस्थाओं को परीक्षा केन्द्र बनाये गये हैं। परीक्षा को तीन समूहों में बांटा गया है। बीकानेर को ग्रुप च्एच् में 20,600 ग्रुप च्बीच् एवं च्सीच् में 19,550 की अनन्तिम अभ्यर्थी संख्या आवंटित की गई है।