प्रतापगढ़ में भाजपा सांसद काे कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने लात-घूंसों से पीट दिया। रविवार दोपहर को भाजपा सांसद संगम लाल गुप्ता रामपुर विधानसभा के सांगीपुर ब्लॉक में जन आरोग्य मेले में आए थे। इसी मेले में कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी और उनकी विधायक बेटी आराधना मिश्रा भी पहुंची थीं।

दरअसल, सांसद जब समर्थकों के साथ वहां पहुंचे तो कांग्रेस कार्यकर्ताओ के साथ किसी बात पर झड़प हो गई। मामला अचानक से बढ़ गया। देखते ही देखते कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रमोद तिवारी के सामने ही हॉल के अंदर भाजपा सांसद संगम लाल गुप्ता को लात-घूंसों से पीटना शुरू कर दिया। वह जान बचाने के लिए दौड़ने लगे। सुरक्षा गार्डों ने किसी तरह से उन्हें बचाया और बाहर लेकर आए। वह लंगड़ाते हुए कार तक गए। तभी उनके साथी को कांग्रेस ने पकड़ लिया। फिर बीच सड़क उसकी भी पिटाई की। बाद में पुलिस फोर्स ने सभी को खदेड़ा।

भाजपा सांसद बोले- पहले से प्लानिंग थी
भाजपा सांसद संगम लाल गुप्ता ने बताया कि सांगीपुर ब्लॉक में कार्यक्रम था। मैं मंच पर जा रहा था। पहले से प्लानिंग कर 50 से 60 लोग बैठे थे। वहां पर इंस्पेक्टर सांगीपुर के साथ मारपीट की जा रही थी। मैंने रोका तो मेरे ऊपर अटैक कर दिया। सुरक्षा कर्मियों ने मुझे खींचकर बचाया। जिसमें मेरे भी चोट लग गई। मेरी गाड़ी भी क्षतिग्रस्त कर दी गई। दौड़ा-दौड़ाकर थानेदार को मारा गया।

प्रमोद तिवारी पर मुकदमा दर्ज

वहीं सांसद संगम लाल गुप्ता और भाजपा समर्थको की पिटाई के मामले में मुकदमा दर्ज किया गया है। सांसद संगम लाल गुप्ता की तहरीर पर कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी और विधायक आराधना मिश्र ‘मोना’ के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। लालगंज कोतवाली में 27 नामजद और 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। लखनऊ-वाराणसी राजमार्ग पर सांसद संगम लाल गुप्ता और कौशांबी सांसद विनोद सोनकर समेत भाजपा नेता धरना प्रदर्शन कर रहे हैं।

मिल चुकी है जान से मारने की धमकी
अगस्त 2021 में भाजपा सांसद संगम लाल गुप्ता से 5 करोड़ की फिरौती भी मांगी गई थी। फिरौती की रकम न देने पर उन्हें बम से मारने की धमकी भी दी गई थी। जिसकी रिपोर्ट भी उन्होंने दिल्ली के नॉर्थ एवेन्यू थाने दर्ज करवाई थी।

कौन हैं संगम लाल गुप्ता?
संगम लाल गुप्ता प्रतापगढ़ के रहने वाले हैं। आठवीं तक की पढ़ाई की है। कम उम्र में घर परिवार संभाला और फिर मुंबई चले गए। यहां उन्होंने कई जगह काम किया। 2017 में भाजपा के टिकट से सदर से विधायक बने। फिर 2019 में भाजपा ने लोकसभा टिकट दे दिया तो सांसद बन गए।