बीकानेर। जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने कहा कि महात्मा गांधी रोड़ पर यातायात को सुगम बनाने तथा सौन्दर्यकरण के लिए इस सड़क को पोल रहित बनाया जाए। साथ ही किसानों को फसल बीमा के तहत मुआवजा मिले इसके लिए उच्च स्तरीय प्रयास किए जाएंगे।
गौतम ने सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में साप्ताहिक समीक्षा बैठक में ये निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोटगेट के सामने स्थित रेलवे फाटक से लेकर सार्दुल सिंह सर्किल तक महात्मा गांधी मार्ग में जितने भी विद्युत पोल लगे हैं उन सबको हटाकर अंडरग्राउंड वायरिंग की जाए। इसके लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग और नगर विकास न्यास के अभियंताओं का भी सहयोग लिया जाए। बी के ई एस एल के अभियंता दोनों विभाग के अभियंताओं से कोर्डिनेट करके इसका पूरा तकमिना बनाकर प्रस्तुत करें ताकि शीघ्र ही कार्रवाई अमल में लाई जा सके।
समन्वय करते हुए दिलवाएं मुआवजा
गौतम ने उपनिदेशक कृषि विभाग को निर्देश दिए कि फसल बीमा योजना के तहत सभी चिन्हित काश्तकारों को फसल बीमा की राशि का भुगतान समय पर हो जाए इसके लिए बीमा कंपनी और राष्ट्रीयकृत बैंक के उच्च अधिकारियों के साथ गुरुवार तक एक बैठक रखी जाए। बैठक में यह समीक्षा की जाए कि फसल बीमा का भुगतान किस स्तर पर रुका हुआ है और क्या समाधान हो सकता है। गौतम ने कहा कि बीमा कंपनी अथवा बैंक स्तर पर जहां भी भुगतान में अनावश्यक विलंब पाया जाएगा, संबंधित के विरुद्ध उच्च अधिकारियों को लिखा जाएगा ताकि दोषी के विरुद्ध कार्रवाई हो सके और काश्तकारों का भुगतान समय पर मिल जाए।
जिला कलक्टर ने कहा कि जननी सुरक्षा योजना और राजश्री योजना में पात्र महिलाओं को समय पर भुगतान हो जाए इसके लिए अधीक्षक पीबीएम अस्पताल और चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी आपस में समन्वय कर जितने भी भुगतान बकाया है सबका भुगतान 15 दिन में कर दें। उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि जिले की जितने भी राजकीय विद्यालयों में विद्युत कनेक्शन नहीं हो रखा है उसकी सूची मंगलवार तक जोधपुर विद्युत वितरण निगम को उपलब्ध करवाई जाए। साथ ही संबंधित संस्था प्रधान को विद्युत कनेक्शन के लिए आवेदन करने के लिए भी पाबंद किया जाए। उन्होंने बहुत स्पष्ट शब्दों में कहा कि अगर 1 सप्ताह में सभी राजकीय विद्यालयों में विद्युत कनेक्शन नहीं होता है अथवा विद्युत कनेक्शन रहित स्कूल की सूचना आती है तो संबंधित शाला प्रधान के विरुद्ध सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी को भी कारण बताओ नोटिस जारी किया जाएगा।
गुणवत्तापरक निस्तारण के लिए गुरूवार को दिया जाएगा प्रशिक्षण
जिला कलक्टर ने सम्पर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों के निस्तारण की समीक्षा करते हुए कहा कि निस्तारित प्रकरणों की गुणवत्ता में कोताही अस्वीकार्य है। पोर्टल पर निस्तारित प्रकरणों की रंेडम आधार पर जांच में जो अधिकारी दोषी पाया जाएगा उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। जिला कलक्टर ने कहा कि प्रकरणों के निस्तारण में समयबद्धता और गुणवत्ता सुधार के लिए गुरूवार को उपखंड स्तरीय अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जाए। पंचायत व उपखंड स्तर पर अधिकारी कार्य नहीं करते हैं तो चार्जशीट दी जाए। गौतम ने निरोगी राजस्थान के प्रति जागरूकता के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर आयोजित की जा रही स्वास्थ्य चैपालों की जानकारी लेते हुए कहा कि सभी चैपालों के फोटो मंगवाए जाएं।
ठेकेदार को करवाएं ब्लैकलिस्टेड
गौतम ने न्यास अधीक्षण अभियंता को निर्देश दिए कि पेचवर्क के आदेश के बावजूद कुछ स्थानों पर ठेकेदारों द्वारा कार्य प्रारम्भ किए गए हैं ऐसी शिकायतें मिल रही है। उन्होंने कहा कि वर्क आॅर्डर मिलने के बावजूद काम प्रारम्भ नहीं कर ऐसे ठेकेदारों को चिन्हित करें। ऐसे ठेकेदारों को ब्लैकलिस्टेड करते हुए पीडब्ल्यूडी, आरयूआईडीपी, सहित अन्य एंजेसियों को भी ब्लैकलिस्टेड ठेकेदारों की सूची भिजवाएं ताकि ऐसी फर्म को भविष्य में टेंडर ना दिए जाएं। बैठक में पानी, बिजली, चिकित्सा, शिक्षा, नहर सहित सम्बंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।