>


बीकानेर। सागर गांव में 10 जुलाई को पूगल से आई बारात के साथ हुई मारपीट व पथराव करने वाले सभी आरोपियों को गिरफ्तारी व कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग को लेकर आज भीम सेना ने कलेक्ट्रेट परिसर में धरना-प्रदर्शन कर जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा।
इस ज्ञापन में बताया कि 10 जुलाई को पूगल से सागर गांव मेघवाल समाज की बारात आई थी। जिसके ऊपर असामाजिक तत्वों शिवलाल चाहर व उनके अन्य साथियों ने बारातियों पर पत्थराव कर दूल्हे को रथ से नीचे उतार दिया। इस हमले में कई बारातियों को चोटें आई व पैर फेक्चर हो गए। इस पर परिवादी राकेश मेघवाल द्वारा व्यास कॉलोनी पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज करवाई, जिसकी जांच सीओ एस.सी.एसटी सेल द्वारा की जा रही है। जांच अधिकारी द्वारा परिवादी व उनके गवाहों के बयानों को दरकिनार करते हुए आरोपियों को लाभ पहुंचाने की गरज से आरोपी शिवलाल को जमानत का लाभ दिलवाने के लिए सही अनुसंधान नहीं किया और न ही शेष आरोपियों को गिरफ्तार किया जा रहा है।ज्ञापन में बताया कि आरोपी शिवलाल न्यायालय से जमानत कराने के पश्चात परिवादी व उनके परिवार के घरों में जाकर धमका रहा है कि मैंने तो जमानत करवाली है अब तुम्हारे से जो कुछ करना है कर लेना, लेकिन मैं आपके परिवार और आपके रिश्तेदारों को मेरे विरूद्ध जो एफआईआर कराई है उसका पूरा बदला लूंगा। इस तरह की हरकतें परिवादी की ओर से उनके गवाहों के खिलाफ की जा रही है।ज्ञापन में बताया कि यह हरकतें भीम सेना कतई सहन नहीं करेगी। हम लोगों के साथ दंबगई से ये लोग अत्याचार करते आ रहे है इसका एक उदाहरण बेलासर गांव का भी था।ज्ञापन में बताया कि जांच में हो रही लापरवाही के कारण सभी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो रही है, ऐसे में पीडि़त पक्ष को टोलियां बनाकर धमकाया जा रहा है, जिससे सागर गांव में दहशत का माहौल है। ज्ञापन में बताया कि यदि आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार नहीं किया गया तो पीडि़त पक्ष को जान-माल का खतरा है।