>


बीकानेर। बज्जू.क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय सीमा क्षेत्र से गुरुवार सुबह बड़ी संख्या में आई ह्लद्बस्रस्रद्ब स्रड्डद्य टिड्डियों ने ष्शह्म्श्चह्य फसलों को चट करना शुरू कर दिया। गुरुवार को गज्जेवाला व चारणवाला के कई चकों में टिडिडयों ने फसल को नुकसान पहुंचाया। इस दौरान ग्रामीणों ने थालियां बजाकर व मिट्टी डालकर टिड्डियों को भगाने का प्रयास किया। पिछली बार जुलाई में आई टिड्डियों के मुकाबले इस बार अधिक संख्या घुसा टिड्डी दल फसलों को नुकसान पहुंचा रहा है। हालांकि बीकमपुर में टिड्डी नियंत्रण कक्ष दुबारा स्थापित हुए हैं। क्षेत्र में आई टिड्डियों को लेकर किसानों में दहशत का माहौल है। किसानों का आरोप है कि तहसीलदार व टिड्डी नियंत्रण कक्ष को सूचना दी जा रही है लेकिन अभी तक कोई उपाय नही किए गए हैं। जबकि टिड्डी दल फसलों को नुकसान पहुंचा रहा हैं। इस दौरान तहसीलदार हरिसिंह शेखावत ने किसानों से कहा कि टिड्डी नियंत्रण दल ने सटीक कार्य करना शुरू कर दिया। किसानों की फसलों को नुकसान नहीं होने देंगे।छत्तरगढ़. क्षेत्र के कई गांवों में सीमावर्ती क्षेत्र में एक बार फिर से टिड्डियों का दल आने से क्षेत्र के किसानों में हड़कंप मच गया है। इसके किसानों को खेतों में खड़ी फसलों पर खतरा मंडराने लगा है। किसानों ने बताया कि खेतों में खड़ी फसलों को चट करने का डर सताने लगा है। क्षेत्र की आरडी 73 वाली पुली, बगराला, महादेववाली के खेतों में गुरुवार शाम करीब पांच बजे आया टिड्डियों का दल ने क्षेत्र के खेतों में खड़ी फसल को चट करने लगा। इस पर किसानों ने परिवार के सदस्यों के साथ थाली व खाली पीपे बजाकर टिड्डियां को उड़ाने का प्रयास किया।किसानों में रोष किसान सामू खां ने बताया कि टिड्डी आने के बाद नियंत्रण दल को सम्पर्क साधने का प्रयास किया लेकिन कोई संपर्क नहीं हुआ। बीकानेर टिड्डी नियंत्रण विभाग निदेशक धन्नेसिंह पूनिया से दूरभाष से सम्पर्क कर इस बारे में अवगत करवाया गया तो क्षेत्र में आने टिड्डी दल को खत्म करने के लिए एक टीम भेजने का आश्वासन दिया