????????????????????????????????????
>



बीकानेर। वेटरनरी महाविद्यालय के 37वें बैच के अल्यूमिनाई 25 वर्षों के बाद एक रंगी साफ ों में बैंड की समधुर धुनों के बीच नाचते-गाते बुधवार को महाविद्यालय पहुँचे। इस बैच के पशुचिकित्सकों-वैज्ञानिकों ने अपने परिजनों और बच्चों के साथ मिलकर ठुमके लगाए। वेटरनरी अल्यूमिनाई 25 वें सम्मेलन में 37वें स्नातक बैच के 27 पूर्व छात्र-छात्राएं अपने युवा जीवन के सुनहरे पलों का स्मरण कर भाव-विभोर हो गए। इस बैच के 55 पशुचिकित्सक, वैज्ञानिक, शिक्षक और पशुचिकित्सा व्यवसायी के रूप में सेवारत हैं। दो दिवसीय बैच मीट के उद्घाटन सत्र को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा ने कहा कि 25 वर्षों बाद सहपाठियों का मिलना और महाविद्यालय और पशुचिकित्सा व्यवसाय में आए परिवर्तन का अहसास एक सुखद और सुनहरी अनुभूति है। इस काल खंड में महाविद्यालय से विश्वविद्यालय का सफर तय कर राज्य के 22 जिलों में पशुचिकित्सा शिक्षा, अनुसंधान और प्रसार सेवाएं सुलभ करवायी गई है। कुलपति प्रो. शर्मा ने कहा कि पशुचिकित्सा क्षेत्र पशु उपचार तक सीमित नहीं है। समाज की जरूरतों और जन आकांक्षाओं के अनुरूप शुद्ध दूध, अंडा, मीट के उत्पादन की जिम्मेदारी का अहसास पशुचिकित्सकों और वैज्ञानिकों को करना होगा। उन्होंने संभागियों को आशवस्त करते हुए कहा कि अल्यूमिनाई एसोसिएशन का विस्तार का नया स्वरूप दिया जाएगा जिससे पशुचिकित्सा व्यवसाय शिक्षा के सुद्दढ़ीकरण कार्य में अल्यूमिनाई का भी योगदान हो सके। समारोह की अध्यक्षता करते हुए वेटरनरी कॉलेज, बीकानेर के अधिष्ठाता प्रो. राकेश राव ने कहा कि 25 वर्षों की अवधि में महाविद्यालय की आशातीत प्रगति और पशुचिकित्सा में आधुनिकतम तकनीकों के समावेश देखकर आपको सुखद अनुभूति होगी।

वेटरनरी कॉलेज अल्यूमिनाई एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. आर.के. तंवर ने संगठन के उद्देश्यों की जानकारी देते हुए विद्यार्थियों के पुरस्कारों की घोषणा की। आयोजन समिति के सचिव डॉ. तपेश माथुर ने स्वागत भाषण में 25 वर्षों आद मिले इस अवसर के लिए गुरूजनों का आभार जताकर दोस्तों के साथ खोए-पाए क्षणों का स्मरण कर सबको गुदगुदा दिया। बैच मीट के विद्यार्थियों की ओर से कुलपति प्रो. शर्मा और अतिथियों ने महाविद्यालय के शिक्षकों क ो शॉल ओढ़ाकर श्रीफल प्रदान कर सम्मानित किया। सम्मानित होने वालों में महाविद्यालय के प्रथम बैच के विद्यार्थी रहे डॉ. ए.पी. व्यास भी शामिल थे। कुलपति प्रो. शर्मा और अतिथियों ने बैच मीट की डिजिटल स्मारिका का लोकार्पण किया। बैच मीट के अध्यक्ष डॉ. रमेश गोदारा ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। डॉ. राजवीर सिंह ने कार्यक्रम का संचालन किया। सायंकाल वेटरनरी ऑडिटोरियम में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। गुरूवार को बैच के सदस्य अपने परिजनों के साथ बीकानेर के एतिहासिक, सांस्कृतिक स्थलों का भ्रमण करेंगे।