>



संपर्क पोर्टल पर लॉगिन नहीं करने वालों को मिला नोटिस
बीकानेर। संपर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों के निस्तारण में कोताही बरतने और नियमित रूप से लॉगइन नहीं करने पर जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक में गौतम ने कहा कि बार-बार निर्देशों के बावजूद संपर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों के निस्तारण में देरी तथा गुणवत्ता में लापरवाही सामने आ रही है यह स्वीकार नहीं किया जाएगा।
गौतम ने प्रारंभिक जिला शिक्षा कार्यालय के 3 बीईओ को 1 माह से अधिक समय तक पोर्टल पर अंकाउट लॉगिन नहीं करने पर 17 सीसी नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जन सुनवाई के तहत प्राप्त प्रकरणों में से जो प्रकरण पेंडिंग हैं उनमें कार्रवाई नहीं करने पर नोखा तथा छतरगढ़ एसडीएम को भी नोटिस जारी किया जाए। जिला कलक्टर ने कहा कि सभी विभागों के अधिकारी संपर्क पोर्टल पर दर्ज होने वाली शिकायतों को श्रेणीबद्ध करते हुए यह सुनिश्चित करें कि व्यक्तिगत लाभ की शिकायतों का निस्तारण इस प्रकार किया जाए जिससे परिवादी को अधिकतम संतुष्टि प्राप्त हो सके। गौतम ने कहा कि सभी विभागीय अधिकारी स्वयं भी निस्तारण में लगने वाले औसत समय, संतुष्टि की स्थिति आदि की समीक्षा कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। जिला कलक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक को संपर्क पोर्टल की प्रगति के संबंध में रोजाना रिपोर्ट देने के निर्देश दिए।
गौतम ने कहा कि पोर्टल के अतिरिक्त विभाग स्तर पर ऑफलाइन प्राप्त होने वाली शिकायतों को पोर्टल पर दर्ज करने के साथ-साथ सुनवाई के अधिकार अधिनियम के तहत भी दर्ज किया जाए।
सर्किल सौन्दर्यकरण का काम जल्द हो शुरू
जिला कलक्टर ने नगर विकास न्यास सचिव को शहर के सभी सर्किल आदि के सौंदर्यकरण का काम तुरंत प्रारंभ करने के निर्देश देते हुए कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी काम गुणवत्तापरक तरीके से पूर्ण हो। यूआईटी अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई को नियमित रूप से करें और यदि बार-बार अतिक्रमण हटाने के बाद भी कोई व्यक्ति पुन: अतिक्रमण करता हुआ पाया जाए तो उसके खिलाफ नियमानुसार कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाए। गौतम ने कहा कि यूआईटी अपने अभियंताओं के लिए डेली मॉनिटरिंग शेड्यूल बनाएं और मौके पर स्थिति के कमेंट प्राप्त करें।
रात्रिकालीन सफाई व्यवस्था करें पुन: शुरू
शहर में सफाई कार्यो की समीक्षा करते हुए जिला कलक्टर ने निगम को रात्रिकालीन सफाई व्यवस्था पुन: चालू करवाने, नए सार्वजनिक शौचालयों के निर्माण के वर्क आर्डर शीघ्र्र शुरू करवाने, अमृत में सीवरेज कार्य के रिव्यू करते हुए गुणवत्ता की जांच करने, सार्वजनिक स्थानों पर चारा बेचने वालों को पाबंद करवाने के निर्देश दिए।
सुरक्षा उपकरण पहनना किया जाए सुनिश्चित
जिला कलक्टर गौतम ने बिजली विभाग के अभियंता को यह निर्देश दिए कि इस बात की जांच कर तीन दिन में रिपोर्ट दी जाए कि जिले के सभी क्षेत्रों में ठेकेदारों के यहां काम कर रहे व्यक्ति तकनीकी रूप से सक्षम है अथवा नहीं, साथ ही कर्मचारी काम करते समय सभी सुरक्षा उपकरणों का इस्तेमाल करें यह भी सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि यदि कहीं पर भी नियमों की पालना सुनिश्चित नहीं की जा रही हो तो ऐसे ठेकेदारों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाए। बीकेईएसएल भी नियमों की अनुपालना सुनिश्चित करें ।
जिला कलक्टर ने कहा कि ऐसे सभी स्कूलों की सूची बिजली विभाग को भिजवाई जाए, जिनके ऊपर से बिजली के तार गुजर रहे हैं ताकि इन तारों को हटवा कर संभावित दुर्घटना से बचा जा सके।
स्वाइन फ्लू संभावित क्षेत्रों में करवाएं सर्वे
जिला कलक्टर ने सीएमएचओ को निर्देश दिए कि स्वाइन फ्लू की आशंका के मद्देनजर संभावित क्षेत्रों में सर्वे करवाएं और टेमीफ्लू का वितरण सुनिश्चित करें। उन्होंने सीएमएचओ को जननी सुरक्षा योजना के तहत बकाया प्रकरणों का रिव्यू कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के भी निर्देश दिए।
जनसूचना पोर्टल की जानकारी चस्पा करने के निर्देश
जिला कलक्टर ने कहा कि जन सूचना पोर्टल का आमजन अधिकाधिक प्रयोग करे इसके लिए आईटी विभाग बुलेट फार्मेट में सभी ई मित्र केन्द्रों, ग्राम पंचायतों, पंचायत समितियों सहित सभी कार्यालयों के बाहर पोस्टर चस्पा करवाएं। ई मित्र संचालकों को भी इस पोर्टल के बारे में बताएं, होर्डिंग, बैनर के जरिए भी इस पोर्टल का प्रचार प्रसार करें ताकि आमजन इस प्लेटफार्म का इस्तेमाल कर सूचनाएं हासिल कर सशक्त हो सके। गौतम ने कहा कि सभी विभागीय कर्मचारी अधिकारी इसकी जानकारी रखें और अपने कार्यालय के डाटा भी अपडेट रखें।
बैठक में नगर निगम आयुक्त डॉ खुशाल यादव, नगर विकास न्यास सचिव मेघराज सिंह मीना सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।