रातभर महिला को पुलिस चौकी में रखा, रेप की कोशिश, एएसआई और थानाधिकारी लाइन हाजिर

उदयपुर में पुलिस का घिनौना चेहरा सामने आया है। एक एएसआई और कांस्टेबल ने आदिवासी शादीशुदा महिला और उसके माता-पिता को जबरन रात भर चौकी में रखा। जहां कांस्टेबल ने उससे रेप का प्रयास किया। इतना ही नहीं महिला से खाना बनवाया और जूठे बर्तन भी साफ कराए। दोनों पुलिसकर्मी उसे अपनी निजी स्कॉर्पियो में बैठाकर दो दिन तक गुजरात भटकते रहे। वहां भी उससे छेड़छाड़ की। बाद में मामले को तूल पकड़ता देख पुलिसकर्मी महिला और उसके परिजनों के साथ मारपीट कर गुजरात छोड़कर भाग आए। मामले में विधायक और ग्रामीणों के दखल के बाद मुकदमा दर्ज हुआ। जिसके बाद एसपी ने कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया है। वहीं, एएसआई और थानाधिकारी को लाइन हाजिर कर दिया गया है।

दरअसल, पानरवा थाना की डैया चौकी के एएसआई राजकुमार और कांस्टेबल जितेन्द्र कुमार के पास 5 साल पहले गुमशुदा हुई एक 26 वर्षीय युवती के मामले की जांच थी। पुलिस को शक था कि गुमशुदा युवती के बारे में शादीशुदा महिला को जानकारी है। महिला ने रिपोर्ट में बताया कि इस शक में उसे और उसके माता-पिता को निजी स्कॉर्पियो में बैठा लिया। यहां से वे उसे गुजरात के विसनगर ले गए। दिनभर तलाश के बाद उसे रात को डैया चौकी लेकर पहुंचे। महिला पुलिसकर्मी नहीं होने के बावजूद महिला को थाने में रहने के लिए मजबूर किया। शाम का खाना बनवाने के बाद कांस्टेबल जितेन्द्र सिंह ने महिला को खुद के कमरे में और उसके माता-पिता को अलग कमरे में सोने को कहा। थोड़ी देर बाद कांस्टेबल जितेन्द्र कमरे में आया और दुष्कर्म करने का प्रयास करते हुए कपड़े फाड़ दिए। चिल्लाने पर उसकी मां वहां पहुंची। इसके बाद कांस्टेबल ने पीड़िता को कमरे से बाहर निकाल दिया और किसी को बताने पर जेल में डालने की धमकी दी।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp