आइ लव बीकानेर के सामने बीकानेर प्रशासन भी आखिर क्यों मौन, पढ़े पूरी खबर.... - Khulasa Online

आइ लव बीकानेर के सामने बीकानेर प्रशासन भी आखिर क्यों मौन, पढ़े पूरी खबर….

बीकानेर. बीकानेर में बना एक सेल्फी पॉइंट आइ लव बीकानेर पूरी तरह टूटने लगा है। इस सेल्फी पॉइंट पर रोजाना हजारों की संख्या में लोग फोटो क्लीक करवाते है। लेकिन फिर भी प्रशासन इन सबको देखकर मौन है। बीकानेर में रोजाना कई देशी-विदेशी पर्यटक आते है। ऐसे में अब बीकानेर की छवि भी खराब होने लगी है। करीब दो साल पहले बीकानेर प्रशासन की ओर से पर्यटकों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से पब्लिक पार्क में आइ लव बीकानेर नाम का सेल्फी पॉइंट बनवाया गया था, लेकिन अब यह सेल्फी पॉइंट टूटने लगा है। इस सेल्फी पॉइंट पर रोजाना हजारों की संख्या में लोग फोटो क्लीक करवाते है। जिनमें बच्चे, युवा व बुजुर्ग तथा महिलाएं भी शामिल है। आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों के लोग इस पब्लिक पार्क के आस-पास तथा सेल्फी पॉइंट पर फोटो क्लीक करवाते है। अब तो इस सेल्फी पॉइंट पर फोटो क्लीक करवाने पर लोगों को शर्म आने लगी है। लेकिन प्रशासन है कि आज तक इस सेल्फी पॉइंट की सूध तक नहीं ली गई है। मजे की बात है कि जहां ये सेल्फी पॉइंट लगाया गया है वहां से रोजाना संभागीय आयुक्त, कलक्टर सहित संभाग के हर बड़े अफसर व नेता गुजरते रहते है। लेकिन ये लोग इस सेल्फी पॉइंट पर नजर जाने के बाद इसको अनदेखा कर देते है। ऐसे में प्रशासन की घोर लापरवाही है कि वे इस टूटे हुए सेल्फी पॉइंट को ठीक करवाए और फिर से इस सेल्फी पॉइंट पर लोग फोटो क्लीक करवाए। अब तो इस सेल्फी पॉइंट के बी, ए और ई अक्षर तो पूरी तरह ही टूट गए है। अब तो सेल्फी पॉइंट पर फोटो क्लीक करवाने से बीकानेर का नाम खराब और मैसेज भी अच्छा नहीं जाता है। हालांकि जहां सेल्फी पॉइंट वहां से शहर की एंट्री पॉइंट भी है ऐसे में देशी-विदेशी पर्यटक भी टूटे हुए सेल्फी पॉइंट पर फोटो क्लीक करवाना पसंद नहीं करते है। स्थानीय लोगों का कहना है कि सेल्फी पॉइंट पर पहले तो लाइटें जगमग करती थी, लेकिन अब सेल्फी पॉइंट के टूटने से न तो अच्छे से लाइटें जगती है और फोटो खिंचवाने का भी मन नहीं करता है। स्थानीय लोगों का आरोप भी है कि प्रशासन की ओर से पब्लिक पार्क के सौंदर्यकरण के लिए करोड़ो का बजट होता है, लेकिन फिर भी पब्लिक पार्क में बने इस सेल्फी पॉइंट का अभी सौंदर्यकरण नहीं हुआ है। ऐसे में इससे अब भ्रष्टाचार की बू आने लगी है। करोड़ो के बजट का सौंदर्यकरण होने के बावजूद भी पब्लिक पार्क व आस-पास के क्षेत्र में बनी जगह भी धीरे-धीरे टूटने लगी है।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp