>


कोरोना वायरस की दहशत ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है. कोरोना की ये तबाही कब थमेगी? देश में कोरोना का पीक कब होगा? और कब कोरोना से होने वाली मौतों का  सिलसिला थमेगा? ऐसे बहुत से सवाल लोगों के मन में गूंज रहे हैं. नई दिल्ली स्थित एम्स के डायरेक्ट रणदीप गुलेरिया ने इंटरव्यू मे. इन सभी सवालों का जवाब दिया है.

डॉ. गुलेरिया ने आज तक के माध्यम से कहा, ‘भारत एक बड़ा देश है, इसलिए यहां अलग-अलग समय पर कोरोना का पीक आएगा. पश्चिम भारत में कोरोना के केस बढ़ने के  कुछ हद तक कम होने शुरू हो गए हैं. अगर हम महाराष्ट्र की बात करें तो यहां बढ़ते हुए मामलों को देखकर यही लगता है कि यहां कोरोना पीक पर आ चुका है.’

डॉ. गुलेरिया ने कहा, ‘अगर हम राजधानी दिल्ली या आस-पास के राज्यों जैसे क्षेत्रों की बात करें तो यहां पीक आने में अभी थोड़ा समय और लग सकता है. शायद इस महीने के मध्य तक इन इलाकों में भी कोरोना का पीक आ जाए. हालांकि ये भी मायने रखता है कि हम कोरोना संक्रमण को कंट्रोल करने के लिए कितने सही कदम उठाते हैं…

 

उन्होंने पूर्वी भारत में कोरोना के फैलने को लेकर भी चिंता जाहिर की है. डॉ. गुलेरिया ने बताया कि असम और बंगाल जैसे राज्यों में अब कोरोना के मामले तेजी से बढ़ना शुरू हो चुके हैं, जोकि चिंता का विषय है. कोरोना का खतरा हर जगह अलग-अलग समय पर बढ़ेगा, लेकिन इसे लेकर सतर्कता बरती जाए तो इस महीने के आखिर  संक्रमितों की संख्या कम हो सकती है.