अपनी जिम्मेदारी को लेकर ये क्या बोल गये सचिन

जयपुर। राजस्थान में महीनों तक चली सियासी हलचल के बीच आज नई केबिनेट का शाम चार बजे शपथ ग्रहण होने जा रहा है। नई मंत्रियों की ताजपोशी से पहले पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने एक प्रेस सम्मलेन में कांग्रेस आलाकमान के फैसले पर खुशी जताई। उन्होंने कहा कि जो कुछ कमियां थीं, उस पर कांग्रेस हाईकमान ने ध्यान दिया और उसे पूरा किया।पायलट ने कहा कि मंत्रिमंडल की नई सूची से अच्छा और साकारात्मक संदेश गया है। हमने इस मुद्दे को बार-बार उठाया था। मुझे खुशी है कि पार्टी आलाकमान और राज्य सरकार ने इसका संज्ञान लिया। पायलट ने कहा कि मंत्रिमंडल में दलित वर्ग को विशेष महत्व दिया गया है। आदिवासियों का भी स्थान बढ़ाया गया है। कांग्रेस के साथ जो तबका हमेशा रहा उसको प्रतिनिधित्व मिला है। अभी सीएम सलाहकार सहित कई राजनीतिक नियुक्ति होनी हैं। सबमें कार्यकर्ता और जनभावना का ध्यान रहेगा। सचिन ने कहा कि दिल्ली और राजस्थान के नेताओं ने मिलकर नया मंत्रिमंडल तैयार किया है। कांग्रेस में कोई गुट नहीं है। सुबह मैंने देखा कि लोग दिखा रहे हैं पायलट गुट से इतना, अशोक गुट से इतना मगर जब 2018 का चुनाव हुआ था तो हमने सबके साथ मिलकर चुनाव लड़ा था और सबके साथ मिलकर सरकार बनाई है। इसलिए कांग्रेस में हमारा एक ही गुट है और वो कांग्रेस आलाकमान का गुट। पायलट ने कहा कि हमारा मकसद एक बार फिर से राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनाना है। हमारी पार्टी का मुख्य मुकाबला भाजपा से है। उसको हराने के लिए सभी एकजुट हैं। खुद की भूमिका को लेकर सचिन पायलट ने कहा कि मेरी भूमिका कांग्रेस के समर्पित कार्यकर्ता की है। कांग्रेस पार्टी जहां भी मुझे जिम्मेदारी देने के लिए उचित समझेगी, वहां जाकर मैं काम करूंगा। प्रियंका गांधी ने यूपी में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को देने का वादा किया है और उसकी छाप भी इस केबिनेट में दिखाई दी है। महिलाओं की भागीदारी को केबिनेट में बढ़ाया है। पहले केबिनेट में एक ही महिला थी और अब तीन महिला होंगी।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp