यूपी के गोरक्षनाथ मंदिर पर हमला, युवक के आतंकी कनेक्शन की मंशा से जांच में जुटी एटीएस - Khulasa Online

यूपी के गोरक्षनाथ मंदिर पर हमला, युवक के आतंकी कनेक्शन की मंशा से जांच में जुटी एटीएस

गोरखपुर. गोरक्षनाथ मंदिर में हमले का तकरीबन 34 सेकेंड का वीडियो सामने आया है। इस वीडियो को कार के अंदर बैठे एक शख्स ने बनाया है। वीडियो में साफ दिख रहा है कि हमलावर मुर्तजा हाथों में धारदार हथियार लिए हुए है। अफरा.तफरी का माहौल दिख रहा है। शाम करीब 7 बजकर 20 मिनट पर च्।ब् जवानों पर हमला किया गया। सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी मौके से भाग खड़े हुए। मंदिर के मुख्य पश्चिमी गेट से लेकर परिसर के अंदर तक करीब 15 मिनट तक संदिग्ध ने तांडव मचाया और मंदिर सुरक्षा में लगाए गए पुलिस वाले उसके डर से भागते रहे। लेकिनए अनुराग नाम के एक पुलिसकर्मी की सूझबूझ से वो पकड़ा गया। ​​​​अल्लाह हू अकबर का नारा लगाकर बोला, मुझे गोली मार दो मुर्तजा हाथ में हथियार लिए गोरखनाथ मंदिर और थाने के ठीक सामने वाली सड़कों पर दौड़ता रहा। पब्लिक और पुलिस वाले उसे देख भागते रहे। इस बीच मुर्तजा ने अल्लाह हू अकबर का नारा भी लगाया और चिल्ला. चिल्ला कर पुलिस वालों से अपील कर रहा था कि मैं चाहता हूं कि तुम लोग मुझे गोली मार दो। बढ़ाई गई गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा बहरहालए पुलिस सक्रियता और मंदिर सुरक्षा की पोल खुलते ही इस मामले की जांच यूपी एटीएस ने ले ली है। इसके साथ ही मंदिर की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है। मंदिर के मुख्य गेट पर ही सख्त चेकिंग के बाद ही किसी को अंदर जाने दिया जा रहा है। इसके साथ ही युवक के आतंकी कनेक्शन और उसकी मंशा की जांच में ।ज्ै जुटी हुई है। डॉ. अब्बासी के परिवार का सदस्य है मुर्तजा संदिग्ध मुर्तजा अहमद अब्बासी शहर के मशहूर डॉ. अब्बासी के ही परिवार का सदस्य है। वे यहां अब्बासी नर्सिंग होम परिसर में ही परिवार के साथ रहता है। एटीएस परिवार के साथ.साथ बाकी लोगों से भी पूछताछ कर रही है। एटीएस ने शुरू की जांच, खंगाल रही विदेशी कनेक्शन ैैएसएसपी डॉ. विपिन टाडा ने बताया कि देर रात एटीएस ने जांच की कमान संभाल ली है। एटीएस और पुलिस टीम हमलावर अहमद मुर्तजा अब्बासी के घर पहुंची। उसके पिता और अन्य परिवार वालों से पूछताछ शुरू की। एटीएस उसका विदेशी कनेक्शन भी तलाश रही है। आरोपी के पास पासपोर्ट था या नहीं। कभी वह विदेश गया था या ​नहीं। साथ ही उसके मोबाइल और लैपटाप के प्च् एड्रेस से विदेशी लोगों से बातचीत या फंडिग आदि की जांच कर रही है। चेकिंग के लिए रोका तो किया हमला रविवार की शाम को अहमद मुर्तजा 7 बजे गोरखनाथ मंदिर के गेट पर पहुंचा। उसे देखकर सुरक्षा में तैनात पीएसी जवान गोविंद गौड़ और अनिल पासवान को उस पर शक हुआ। जवानों ने उसे चेकिंग के लिए रोक लिया। तो उसने हथियार बांका निकाल कर हमला कर दिया। मुंबई से सुबह ही गोरखपुर पहुंचा था जैसे ही जवान अनिल साथी गोविंद को बचाने के लिए आया तो अब्बासी ने उनके हाथ व पेट पर हमला कर दिया। दोनों जवानों पर वार होता देख गेट के अंदर ड्यूटी पर तैनात सिपाही अनुराग राजपूत इंसास राइफल के साथ पहुंचे तो आरोपी भागने लगा। गेट पर मौजूद मंदिर के कर्मचारियों ने आरोपी को दौड़ाकर पकड़ लिया। बताया जा रहा है वह रविवार की सुबह मुंबई से गोरखपुर आया था। उसके पास से धार​दार हथियार व लैपटॉप भी बरामद हुआ है। घायल जवानों को गोरखनाथ अस्पताल में भर्ती किया गया है। हमलावरों के निशाने पर योगी और गोरखनाथ मंदिर 5 फरवरी 2022 को सोशल मीडिया पर लेडी डॉन नाम से गोरखनाथ मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी आई थी। सीएम योगी पर भी हमला करने की बात कही गई थी। पुलिस ने गोरखपुर में केस दर्ज किया था। 8 नवंबर 2021 को भी पीएम नरेंद्र मोदी व सीएम योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी आई थी। एक अप्रैल 2020 को भी सीएम योगी को जान से मारने की धमकी मिली थी। यूपी पुलिस कंट्रोल रूम के वॉट्सऐप पर एक शख्स ने चैलेंज किया था कि चार दिन में जो कर सकते हो कर लोए योगी को मई 2020 में बम से उड़ा देंगे। इस मामले में लखनऊ के गोमती नगर में केस दर्ज है।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp