दो भाजपा पार्षदों ने पूनिया को भेजा इस्तीफा,बोले- न विकास कार्य हो रहे,न कोई सुन रहा - Khulasa Online

दो भाजपा पार्षदों ने पूनिया को भेजा इस्तीफा,बोले- न विकास कार्य हो रहे,न कोई सुन रहा

बाड़मेर। केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी के गृह जिले बाड़मेर में बीजेपी नगर परिषद‌ बोर्ड में घमासान शुरू हो गया है। कैलाश चौधरी इसी बालोतरा नगर परिषद‌ में वोटिंग करते हैं। वार्डों में विकास कार्य व समस्याओं का समाधान नहीं होने से आहत होकर भाजपा के दो पार्षदों सावंलाराम भाटी और हीना मेहर ने प्रदेशाध्यक्ष सतीष पूनिया को इस्तीफा भेज दिया। पार्षदों ने बताया है कि सभापति और जिले के पदाधिकारियों तक समस्या बताने के बाद कोई समाधान नहीं होने पर यह कदम उठाना पड़ा। बालोतरा नगर परिषद‌ में बीजेपी का बोर्ड है। कुल 45 पार्षदों में से सभापति सहित बीजेपी के पास 26 पार्षद थे। इसमें से दो पार्षदों ने इस्तीफा भेज दिया है। कोई सुनवाई नहीं बालोतरा नगर परिषद‌ के वार्ड संख्या 24 से भाजपा के पार्षद सावंलाराम भाटी व वार्ड संख्या 27 की भाजपा पार्षद हीना मेहर ने इस्तीफे में बताया कि वर्तमान बोर्ड भाजपा का होने के बावजूद उनके वार्ड में विकास कार्य नहीं हो रहे हैं और न ही समस्याओं का समाधान हो रहा है। इस संबंध में सभापति को अवगत करवाने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हुई। इसके साथ भाजपा के पदाधिकारियों को भी बताया। फिर भी हमारी नहीं हुई। इसके चलते पार्टी से इस्तीफा देने को मजबूर हैं। पार्षदों का आरोप है कि सभापति सुमित्रा जैन अपने चहेतों और कुछ कांग्रेस पार्षदों का काम कर रही हैं। बीजेपी से होने के बावजूद हमारे काम नहीं हो रहे हैं। पार्षदों ने धांधली का भी आरोप लगाया है। सांवलाराम भाटी ने कहा कि मेरे वार्ड में एक महिला का बिना नोटिस दिए घर तोड़ दिया। मैंने इस बारे में सभापति को कहा। उन्होंने मेरी बात को अनसुना कर दिया। मेरे वार्ड में काम बिल्कुल नहीं हो रहे हैं। बीजेपी से 25 पार्षद जीते बालोतरा नगर परिषद‌ में कुल 45 वार्ड हैं। इन 45 में से बीजेपी के टिकट पर 25 पार्षद जीते थे। कांग्रेस के 16 पार्षद ही जीत पाए थे। 4 पार्षद निर्दलीय जीते थे। सभापति चुनाव के समय दो निर्दलीय पार्षद भाजपा में और दो कांग्रेस में चले गए थे। इससे भाजपा के पास 27 पार्षद और कांग्रेस के पास 18 पार्षद हो गए थे। कुछ समय पहले बीजेपी से जीती वार्ड 29 की पार्षद पूजा वैष्णव कांग्रेस में शामिल हो गई थीं। इस्तीफे देने वाले दो पार्षदों सहित बीजेपी के पास अब 26 पार्षद हैं तो कांग्रेस के पास 19 पार्षद। इस्तीफा देने वाले ये दो पार्षद अगर बीजेपी छोड़ भी देते हैं तो बीजेपी बोर्ड को नुकसान होता नजर नहीं आ रहा है। सतीश पूनिया और वसुंधरा गुट में खींचतान प्रदेश में सतीश पूनिया और वसुंधरा गुट के बीच घमासान चल रहा है। अब बाड़मेर जिले में भाजपा नगर परिषद‌ बोर्ड में खींचतान शुरू हो गई है। दोनों बीजेपी पार्षदों ने ई-मेल और डाक से बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया को अपना इस्तीफा भेजा। अब देखना होगा कि बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष इस इस्तीफे पर कार्रवाई करते हैं या फिर सभापति से बात करते हैं।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp